Breaking News
recent

पं. बालकृष्ण शर्मा नवीन स्नातकोत्तर महाविद्यालय में शहीद स्व. श्री लांस नायक शिवदयालसिंह चौहान के स्मृति पट का अनावरण


शाजापुर। मुझे गर्व है कि मैं इस नवीन महाविद्यालय में पढ़ा, क्योंकि यहीं से शहीद शिवदयाल सिंह चैहान ने भी अपनी शिक्षा पूरी की थी। विद्यार्थियों में देशभक्ति का जज्बा पैदा हो, इसके लिए महान शहीदों की प्रतिमा महाविद्यालय में स्थापित की जाना चाहिए। शहीद की शहादत को पूरा सम्मान मिले और आने वाली पीढ़ी उन्हें याद रखे, इसके लिए नवीन महाविद्यालय परिसर में शहीद शिवदयाल सिंह चैहान की प्रतिमा लगाई जाएगी।
यह बात शुक्रवार को पं. बालकृष्ण शर्मा नवीन शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, शाजापुर में आयोजित शहीद स्व. श्री लांस नायक शिवदयालसिंह चैहान स्मृति दिवस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि शाजापुर विधायक व जनभागीदारी समिति अध्यक्ष माननीय श्री अरुण जी भीमावद ने कही। उन्होंने कहा कि मैं अपने छात्र जीवन से ही दो लोगों का आदर सहित सम्मान करता आया हूं। इनमें एक तो पुलिस/सेना है और दूसरे डाॅक्टर हैं। इसके पूर्व कार्यक्रम का शुभारंभ अतिथियों द्वारा मां सरस्वती और शहीद स्व. श्री लांस नायक शिवदयालसिंह चैहान के चित्र पर माल्यार्पण कर किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि विधायक अरुण भीमावद और विशेष अतिथि कलेक्टर श्रीमती अलका श्रीवास्तव व एसपी अनिल शर्मा थे। उनके साथ मंच पर नपाध्यक्ष प्रतिनिधि श्री क्षितिज भट्ट, एएसपी महेंद्र तारणेकर भी मंचासीन थे। अतिथियों का परिचय प्रभारी प्राचार्य डाॅ. वी. के. शर्मा ने दिया। मंचासीन अतिथियों का स्वागत डाॅ. प्रतिभा सक्सेना, डाॅ. वीपी मीणा, डाॅ. बीके सोलंकी, डाॅ. एमआर नेहे, डाॅ. आरकेएस राठौर, कु. अपूर्वा जैन, डाॅ. नमिता काटजू, रघुवीरसिंह पंवार, आत्माराम शर्मा व भगवानदास बैरागी ने किया। शहीद का जीवन परिचय एनसीसी प्रभारी व लेफ्टिनेंट डाॅ. वीपी मीणा ने किया। बीएसएफ इंदौर के प्रतिनिधि के रूप में पधारे योगेंद्र पाठक ने भी शहीद शिवदयाल सिंह चैहान को श्रद्धासुमन अर्पित कर उन्हें याद किया। कार्यक्रम के अंत में अतिथियों द्वारा महाविद्यालय परिसर में लगाए गए शहीद के स्मृति पट्ट का अनावरण किया गया। कार्यक्रम का सफल संचालन वरिष्ठ प्राध्यापक व वाणिज्य विभागाध्यक्ष डाॅ. केशवमणि शर्मा ने माना। आभार एनएसएस अधिकारी डाॅ. दिनेश निंगवाल ने माना।
सैनिकों के राजस्व संबंधी कार्य प्राथमिकता से करें - कलेक्टर
कार्यक्रम में विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित कलेक्टर श्रीमती अलका श्रीवास्तव ने शहीद श्री चैहान को श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए कहा कि सेना में छुट्टियां मुश्किल से और बहुत कम समय के लिए मिलती है। वे छुट्टियां तो अपने परिवार के लिए लेकर आते हैं, लेकिन उनकी छुट्टियां परिवार की बजाय छोटे-मोटे प्रशासनिक कार्यों को पूरा करने में ही खत्म हो जाती हैं। इस कारण उन्हें परिवार के लिए समय कम मिलता है। इसलिए प्रशासनिक अधिकारी खासकर राजस्व अधिकारी प्राथमिकता के आधार पर सैनिकों के भूमि संबंधी एवं अन्य कार्यों को निपटाएं।
शहीद के परिवार का सम्मान करें - एसपी
कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि पुलिस अधीक्षक श्री अनिल शर्मा ने कहा कि सीमा सुरक्षा बल के सैनिक खासकर हमारे देश की सीमाओं पर कठिन परिस्थितियों मंे -4 से -10 डिग्री सेल्सियस तापमान, खंदके, पहाड़, चट्टानों तथा रेगिस्तानी इलाकों में जहां 50 डिग्री सेल्सियस तापमान रहता है, पीने का पानी नहीं मिलता, वहां अपने परिवारों को छोड़कर देश की रक्षा के लिए मुस्तैद रहते हैं। यदि वे शहीद हो जाते हैं, तो उनके परिवारों को सबसे बड़ा नुकसान उनके मुखिया के चले जाने का होता है। इस बात का एहसास हमें करना चाहिए और शहीदों के परिवार के साथ सहानुभूतिपूर्वक सम्मानजनक व्यवहार करना चाहिए।
शहीद के नाम पर होगा सड़क का नामकरण - क्षितिज भट्ट
कार्यक्रम में उपस्थित नगर पालिका अध्यक्ष प्रतिनिधि श्री क्षितिज भट्ट ने कहा कि एबी रोड से काशीनगर जाने वाले नहर के समीप स्थित मार्ग का नामकरण शहीद स्व. श्री लांस नायक शिवदयालसिंह चैहान के नाम पर किया जाएगा। इसका प्रस्ताव रखकर नामरकण को स्वीकृति दिलाने का उन्होंने आश्वासन दिया।
प्रतिमा के लिए देंगे 21 हजार रुपये
राजपूत समाज के अध्यक्ष वीरेंद्र सिंह गोहिल ने कहा कि नवीन महाविद्यालय परिसर में शहीद स्व. श्री लांस नायक शिवदयालसिंह चैहान की प्रतिमा लगना हमारे लिए गौरव की बात है। इस प्रतिमा की स्थापना के लिए उन्होंने 21 हजार रुपए की राशि देने की घोषणा भी कार्यक्रम में की। शहीद के ज्येष्ठ पुत्र श्री वीरेंद्र सिंह ने शहीद के साहसिक कार्यों का स्मरण करवाया।
शहीद की पत्नी का किया सम्मान
कार्यक्रम में शहीद स्व. श्री लांस नायक शिवदयालसिंह चैहान की धर्मपत्नी श्रीमती अन्नपूर्णा सिंह चैहान का पहले शाॅल, श्रीफल व स्मृति चिहन देकर सामाजिक रूप से सम्मान किया गया, इसके बाद सांस्कृतिक सम्मान महावि के वाणिज्य विभागाध्यक्ष डाॅ. केशवमणि शर्मा द्वारा बीकाॅम टप् सेमेस्टर के एकीकृत पाठ्यक्रम के लिए अंतरराष्ट्रीय विपणन नाम से प्रकाशित पुस्तक का विमोचन उनके करकमलों से कराकर किया गया। छात्रा कु. प्रणिता सिंह, रचना सोलंकी तथा भावना शर्मा द्वारा भी शहीद की पत्नी के करकमलों से महावि परिसर में पीपल का पौधा लगाकर पर्यावरणीय सम्मान किया गया। शहीद स्मृति के रूप में रोपित इस पौधे की समस्त सुरक्षा एवं पानी देने की जिम्मेदारी छात्राओं ने स्वप्रेरणा से लेकर शहीदों के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि दी। इनके अलावा पूर्व विधायक लक्ष्मणसिंह डोडिया, वीरेंद्र सिंह गोहिल, शहीद के ताउजी प्रताप सिंह सहित शहीद के परिवारजनों का सम्मान भी महाविद्यालय परिवार द्वारा किया गया।

shahzad Khan

shahzad Khan

No comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.