Breaking News
recent

सेव वाटर, सेव लाईफ,कौटिल्य एकेडमी में मंच से हुई संदेशों की बारिश,बच्चों ने मनवाया प्रतिभा का लोहा

शहजाद खान शाजापुर। बाहर शीतलहर का प्रकोप था तो अंदर जोश और जुनून की आंच। जिसने शीतलहर की सर्दी के असर को भी बेअसर कर दिया। मंच के माध्यम से बच्चों ने जल है तो जीवन है, भारतीय संस्कृति हमारी धरोहर है, तिरंगा हमारी और पूरे देश की शान है के संदेश का प्रसारण अपनी प्रस्तुति के माध्यम से किया। जिसने दर्शक दीर्घा में बैठे हर शख्स को प्रभावित कर दिया। इस दौरान सुर और संगीत का भी संगम देखने को मिला और एक ही प्रस्तुति ने इन बच्चों को आॅयडियल बना दिया।
ये नजारा था एबी रोड स्थित कौटिल्य एज्यूकेशन एकेडमी में चल रहे कार्निवल-2 के समापन का, जहां बच्चों ने एक से बढ़कर एक प्रस्तुति देकर माहौल को खुशनुमा बना दिया। शुक्रवार की रात इस सीजन की सबसे सर्द रात थी, लेकिन विद्यालय में चल रहे इस कार्यक्रम ने उसे भी बेअसर कर दिया और बच्चों के उत्साह और जुनून को अभिभावकों और शिक्षक-शिक्षिकाओं ने देर रात तक सराहा। इस दौरान एक नाटक की प्रस्तुति के माध्यम से बच्चो ने बताया कि कैसे हम अपने जीवन की व्यस्तताओं के कारण छोटी-छोटी लापरवाही करते हैं जो आगे चलकर हमें बहुत महंगी पड़ सकती हैं। वहीं विद्यालय की छात्रा अन्हा खान ने भी अपनी सुरीली आवाज से सुंदर गीत की प्रस्तुति देकर सभी को अपना कायल बना लिया।
किसी एक को अपना आयडल जरुर बनाएं - एसपी डॉ. शुक्ला 
हरेक बच्चे में अपनी एक खूबि होती है, बस जरुरत है उसे मौका और मंच देने की। यदि आप जीवन में आगे बढ़ना चाहते हैं और अपना अलग मुकाम चाहते हैं तो किसी ऐसे एक को अपना आॅयडल जरुर बनाएं और उसी के नक्शे कदम  पर आगे बढ़ें। आपका जीवन और सोच बदल जाएगी और आप लोग मन चाहे मुकाम तक पहुंच जाओगे। यह बात एसपी डॉ. मोनिका शुक्ला ने कौटिल्य एज्यूकेशन एकेडमी में चल रहे कार्निवल-2 कार्यक्रम के समापन अवसर पर कही। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार हम फिल्में देखते हैं और उसमें नायक का किरदार देखकर हम उसी की तरह बनने का सपना देखने लगते हैं। ये तो रील लाईफ है, लेकिन रियल लाईफ में भी हमारे साथ यही होना चाहिए। किसी ऐसे व्यक्ति को अपने जीवन में आयडल बनाएं जिसे आप बहुत मानते हों या जिससे आप बहुत प्रभावित हों, फिर देखना आप उसके जैसा करने और उसके जैसा बनने के लिए पूरे मन से मेहनत करेंगे और यही मेहनत आपको आपका मनचाहा मुकाम दिलाएगी। 
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए एएसपी महेंद्र तारणेकर ने कहा कि आज के समय में माता-पिता और बच्चों में कम्यूनिकेशन गेप बढ़ता जा रहा है। जिसकी वजह से माता-पिता से बच्चे जल्दी गुस्सा हो जाते हैं या उनकी बातों को अनसुूना करने लगते हैं। इसके लिए बेहतर यही होगा कि घर में सभी एक-दूसरे की बात समझें और एक-दूसरे की बात सुने। इससे माता-पिता अपने बच्चों की बात समझ सकेंगे और बच्चे भी माता-पिता के कहे अनुसार ही करेंगे, जिससे घर का माहौल भी खुशनुमा होगा। 
कार्यक्रम को वरिष्ठ चिकित्सक डॉ. एलएन व्यास, समाजसेवी माणकचंद बोथरा, समाजसेवी मकसूद अली ने भी कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बच्चों को प्रोत्साहित किया। इस अवसर पर विद्यालय संचालक ब्रजेश यादव, संचालिका श्रीमती शशि यादव, प्रशासनिक समिति अधिकारी अरविंद यादव, आर्यन यादव, नरेंद्रसिंह डोडिया, स्मिता दुबे, प्रदीप सिंह, रामकृष्ण पाटीदार, कमलेश पाटीदार सहित बड़ी संख्या में शिक्षक-शिक्षिकाएं, विद्यार्थी और अभिभावक उपस्थित थे।

shahzad Khan

shahzad Khan

No comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.