Breaking News
recent

Advertisement

भगवान् भरोसे शाजापुर का जिला अस्पताल,समय पर इलाज नही मिलने से एक मरीज की मोत, परिजनों ने किया हंगामा,

Adjust the font size:     Reset ↕

शाजापुर। इन दिनों शाजापुर का जिला अस्पताल भगवान्क भरोसे चल रहा हे इसी के चलते एक व्यक्ति को शुक्रवार को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा  । प्राप्त जानकारी के अनुसार स्थानीय कमरदीपुरा निवासी शब्बीर खां पिता नियाजमोहम्मद 55 वर्ष शुक्रवार को शाम गिरवर रोड पर अपनी बाइक से अचानक गिरकर बेहोश हो गए थे। इस पर परिजन उन्हे उपचार के लिए जिला अस्पताल लेकर आए, जहां मौजूद डॉक्टर संजय खंडेलवाल ने इलाज करने से मना कर दिया। परिजनों के आक्रोशित होने पर अन्य चिकित्सक इलाज के लिए पहुंचे और उन्होने शब्बीर को मृत घोषित कर दिया। इसके बाद मृतक शब्बीर खां के परिजनों ने जिला अस्पताल में जमकर हंगामा किया।  

इस घटना के बाद मृतक के परिजनों ने जिला अस्पताल में जमकर हंगामा कर दिया। वहीं इस बात की जानकारी मिलते ही अपर कलेक्टर श्रीमती मीनाक्षीसिंह, एसडीएम राजेंद्र यादव, एसडीओपी देवेंद्र यादव, सीएमएचओ डॉ. अनुसूया गवली, थाना प्रभारी राजेंद्र वर्मा मौके पर पहुंचे और परिजनों को डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई किए जाने का आश्वासन देकर मामला शांत कराया। जानकारी लगने पर पहुंची एडीएम श्रीमतीसिंह ने परिजनों से चर्चा कर डॉक्टर संजय खंडेलवाल के खिलाफ बयान दर्ज कराए।

 डॉ खंडेलवाल की पूर्व में भी शिकायत हुई हे 
ज्ञातव्य है कि शाजापुर के दायरा निवासी अफजल खान पिता मकसूद खान की 1 अगस्त 2016 को पुताई करते समय गिर जाने से कुल्हों के नीचे की हड्डी टूट गई थी। हड्डी टूट जाने के बाद परिजन उपचार के लिए अफजल को जिला अस्पताल लेकर पहुंचे थे।
जहां डॉ खंडेलवाल ने प्राथमिक उपचार कर अफजल का आपरेशन करने की सलाह परिजनों को दी थी, जिस पर 3 अगस्त को आपरेशन किया जाना तय हुआ था। इसके बाद जब परिजन अफजल को 3 अगस्त को इंदौर लेकर पहुंचे तो यहां मौत के सौदागर डॉ. संजय खंडेलवाल ने वेदांत हास्पिटल में आपरेशन के लिए अफजल को भर्ती किया और इस दौरान अफजल को एनेस्थीसिया का ओवरडोज लगाकर मौत की नींद सुला दिया। वहीं घटना के बाद संजय खंडेलवाल मौके से फरार हो गया और अपनी काली करतूत छिपाने के लिए लगभग एक माह तक जिला अस्पताल से भी गायब रहा। लेकिन जिम्मेदार अधिकारियों से सांठगांठ के चलते खंडेलवाल फिर जिला अस्पताल में लोगों का इलाज करने के लिए पहुंच गया और अपने लापरवाहीपूर्वक रवैये के कारण शुक्रवार शाम एक वृद्ध को मौत की आगोश में पहुंचा दिया। खंडेलवाल की इस लापरवाही की सूचना जब अफजल के परिजनों को मिली तो वे भी अस्पताल पहुंचे और कार्रवाई किए जाने की मांग की।
इनका कहना है
डॉ. खंडेलवाल पर मृतक के परिजनों ने इलाज नही करने का आरोप लगाया है। मामले में बयान दर्ज कर जांच की जा रही है। इसके बाद नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। वहीं अफजल की मौत के मामले में पुलिस जांच चल रही है।
-श्रीमती मीनाक्षीसिंह, अपर कलेक्टर शाजापुर।

Like us on Facebook

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए मालवा अभीतक के Facebook पेज को लाइक करें

Shahzad Khan

No comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.