Breaking News
recent

शाजापुर में एकता की छांव में 51 जोड़े बने हमसफर- समारोह में जनप्रतिनिधियों, अधिकारियो ने दिया वर-वधुओं को आशीर्वाद, आयोजन के प्रति किये अपने विचार व्यक्त

एक ही पंडाल में हुआ विवाह व निकाह, एकता की मिसाल बना सम्मेलन
(शहजाद खान) शाजापुर। एकता ग्रुप द्वारा आयोजित सर्वधर्म विवाह व निकाह समारोह में सांप्रदायिक सौहार्द की मिसाल देखने को मिली। सर्वधर्म शादी सम्मेलन में  एक ही पंडाल के नीचे निकाह और विवाह दोनों ही आयोजन हुए। इसमें एक तरफ मुस्लिम निकाह की रस्में पूरी हुई, तो दूसरी तरफ हिन्दू जोड़ों ने सात फेरे लेकर जीवन साथी को चुना। समारोह में 51 जोड़े दांपत्य सूत्र में बंधे। शनिवार को स्थानीय हाट मैदान स्थित अपना गार्डन में सम्मेलन आयोजित हुआ। समारोह में विधायक अरूण भिमावाद जिलाध्यक्ष रामवीरसिंह सिकरवार, कलेक्टर अलका श्रीवास्तव, एसपी डॉ. मोनिका शुक्ला, नपाध्यक्ष प्रतिनिधि क्षितिज भट्ट सहित अन्य जनप्रतिनिधियों ने शिरकत की। 
टीम बधाई की पात्र है- विधायक भीमावद ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा गरीबों के उत्थान के लिए अनेक योजनाऐं संचालित की जा रही है। जिसमें मुख्यमंत्री कन्यादान योजना भी एक है, लेकिन एकता ग्रुप द्वारा अपने निजी खर्च और सहयोग से ये सफल आयोजन किया। जिसके लिए ग्रुप अध्यक्ष सैय्यद वकार अली व उनकी टीम बधाई की पात्र है। ये उनकी मेहनत और लगन का ही नतीजा है जो सम्मेलन अपने आठवें वर्ष में सफलता पूर्ण संपन्न हुआ। क्षेत्र में इस तरह के आयोजन होने चाहिए, जिससे गरीब परिवार को मदद मिल सकें।
जिले में ऐसे आयोजन के लिए लोगो को आगे आना चाहिए- ग्रुप संरक्षक रामवीरसिंह सिकरवार ने कहा कि जिले में हर बड़ी जगह पर ऐसे आयोजन होना चाहिए जिससे समाज में  जागरूकता फेलेगी ही गरीबो की मदद भी होगी  उन्होंने कहा की पैसे न होने की वजह से बहुत से गरीब लोगों की बेटियों की शादी नहीं हो पाती है, इस वजह से कुछ लोग बेटियों को बोझ समझ लेते है। देश में बेटी बचाओं, बेटी पढ़ाओं अभीयान चल रहा है, लेकिन इस अभीयान में एक चीज और जुड़नी चाहिए कि गरीब बेटियों की शादी भी करवाओं। 

ग्रुप द्वारा आगे भी इस तरह के कार्यक्रम आयोजित किए जाऐंगे-   ग्रुप अध्यक्ष सैय्यद वकार अली ने कहा कि इस प्रकार के आयोजन कराने से उन्हें मन की शांति मिलती है। साथ ही लोगों द्वारा जो सहयोग किया गया। इससे वे बेहद खुश है। ग्रुप ने हमेशा से ही गरीब और बेसहारा लोगों की मदद की है। उन्होंने कहा कि समाज के लोगों की ऐसी सोच बन गई है कि जिसके पास पैसा नहीं है वह अपने बच्चों की शादी नहीं करवा सकता, समाज की इसी सोच को बदलने के लिए ग्रुप द्वारा एक छोटी सी पहल की गई थी, जो अब एक भव्य रूप ले चुकी है। ग्रुप द्वारा आगे भी इस तरह के कार्यक्रम आयोजित किए जाऐंगे। 
दोनों ही समाज की शादियां एक ही मंडप में एक मिसाल है-  समारोह में कलेक्टर श्रीमति अलका श्रीवास्तव ने कहा कि एकता ग्रुप ने सम्मेलन के माध्यम से जो भईचारा प्रस्तुत किया है वो काबिले तारीफ है। दोनों ही समाज की शादियां एक ही मंडप में एक मिसाल है। इससे अच्छा और सुंदर आयोजन कहीं हो ही नहीं सकता। ऐसे आयोजन से भईचारा कायम रहता है। कलेक्टर ने नवदंपत्तियों को शुभकामनाएं देते हुए आशीर्वाद भी दिया।
ऐसे आयोजनों से देश में एकता बढ़ेगी- एसपी डॉ. मोनिका शुक्ला ने आयोजन की सराहना करते हुए कहा कि ऐसे आयोजनों से देश में एकता बढ़ेगी। वहीं सम्मेलन में विवाह करने से फिजूल खर्चा बच जाता है। लोगों को इसमें बढ़-चढ़कर भगीदारी करनी चाहिए। 
इस आयोजन में दोनों ही समाज के लोगों ने शिरकत कर वर-वधुओं को सुखी जीवन का आशीर्वाद दिया तो प्रशासन और जनप्रतिनिधि भी इस आयोजन के साक्षी बने और वर-वधुओं को सुखी व सफल दाम्पत्य जीवन का आशीर्वाद दिया।
सम्मेलन में दिखी एकता सम्मेलन में खास बात यह रही कि जिसने भी इसके बारे में सुना वह तारीफ किए बिना नहीं रहा।  
आयोजन समिति की तरफ से विवाहित जोड़ों को उपहार स्वरूप गृहस्थी का सामान व मेहमानों के लिए खाने की व्यवस्था की गई। समारोह में 20 जोड़ो के फेरे पंडित अनोखीलाल शर्मा ने करवाए तो वहीं 31 जोड़ों का निकाह शहर काजी मोहसिन उल्ला के नेतृत्व में हुआ। इस अवसर पर ग्रुप के दाऊद सेठ, वरिष्ठ नेता अय्यू  मेव, हाजी मसीद, शेख शाकिर बुशरा, डॉ. अशफाक मंसूरी, मोहसिन मिर्जा, भय्यू अंकल, श्रीमति संतोष शर्मा, भय्यू मास्टर, आगर अध्यक्ष हनिफ भाई , राजा काका, चाचा मियां, जाकीर कुरैशी, बब्लू श्रृंगारिका, वसीम गोल्डन, हैदर अली, नदीम, असलम बोहरा, इरफान पटेल, भय्या काजी, इरशाद मंत्री, जफर बाबा आदि का विशेष सहयोग रहा। कार्यक्रम का सफल संचालन ग्रुप सचिव शेख शाकिर बुशरा ने किया  
shahzad Khan

shahzad Khan

No comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.