Breaking News
recent

Advertisement

जिला अस्पताल पे आखिर क्यों मोन हे जनप्रतिनिधि- क्या हमारे वोट से ही हे वास्ता) पड़ें अस्पताल के मरीजो का दर्द

Adjust the font size:     Reset ↕

शहजाद खान 
शाजापुर जिला चिकित्सालय में इन दिनों जो हो रहा हे वो किसी से छुपा नही हे, यहाँ पर वर्तमान में जिले के सेकड़ो गाँवो के और शाजपुर के हजारो मरीज खासे परेशान हे, अस्पताल में अव्यवस्थाओ का शिकार हो रहे मरीजो का कहना हे की क्या हमारे वोट से ही जनप्रतिनिधियों को वास्ता हे, या फिर को हमारी सुध भी लेगा 
ये हो रहा हे -
-यहाँ पर ड्यूटी डाक्टर अवकाश लेकर बैठे रहते हे और मरीज को देखने वाला कोई नही होता,
-मरीज सोनोग्राफी के लिए घंटो इन्तजार करते रहते लेकिन कोई नही आता हे,
- यहाँ पर दवाई खरीदी घोटाला भी हो गया और सामान खरीदी मामले में भी अनियमितता पाई गई 
- जिले के जिम्मेदार प्रसासनिक अधिकारी अस्पताल जाते हे, फटकार भी लगाते हे लेकिन कुछ देर बाद उनके द्वारा लगाई गई फटकार को सब भूल जाते हे, और वो जिस काम के आदेश देकर आते हे उसे हवा में उड़ा दिया जाता हे 
-सीएमएचओ के खिलाफ कार्यवाही का कलेकटर मेडम द्वारा शासन को पत्र भी लिखा गया लेकिन अब तक व्यापक परिणाम देखने को नही मिले 
---
ये सारी समस्याए रोजाना उजागर हो रही हे, मरीजो को सुविधा न मिलने पर हंगामा भी अस्पताल में हो रहा हे, बावजूद इसके जिला मुख्यालय के जिम्मेदार जनप्रतिनिधि इस और ध्यान नही दे रहे हे आखिर क्यों,
-जिला मुख्यालय पर आये दिन देश की विभिन्न बड़े मुद्दों के लेकर कभी ज्ञापन दिया जाता हे, तो कभी किसी का पुतला दहन किया जाता हे, ऐसा करके सम्बंदित नेता अपना विरोद प्रकट करते हे,
तो ऐसे में आम जन के मन में ये सवाल आटा हे की आखिर जिला अस्पताल की अव्यवस्था को लेकर सत्ता पक्ष और विपक्ष के नेता क्यों सामने नही आ रहे, मतदाता ये सोच रहा हे की नेताजी  अस्पताल जाकर उन मरीजो का हाल क्यों नही नही जान रहे हे जो अव्यवस्था का शिकार हो रहे हे जिन्हें समय पर इलाज नही मिल रहा हे, 
और बड़ा सवाल ये भी उठता हे की अस्पताल में आये दिन डाक्टर ड्यूटी पर नही रहते हे,अवकाश पर रहते हे और  ये बात किसी से छुपी नही हे तो फिर जनप्रतिनिधि इस पर क्यों आवाज नही उठाते हे 

आखिर और कब तक ये सिलसिला चलता रहेगा या फिर जनप्रतिनिधि अपनी जिम्मेदरी को निभाते हुए अस्पताल का आकस्मिक निरिक्षण कर जिम्मेदारो के खिलाफ्कर्य्वाही करेंगे 

Like us on Facebook

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए मालवा अभीतक के Facebook पेज को लाइक करें

Shahzad Khan

No comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.