Breaking News
recent

मंगल जलाभिषेक समिति की पत्रकारवार्ता आयोजित , इस वर्ष यात्रा में २५ हजार श्रद्धालुओं के शामिल होने की संभावना


शाजापुर। क्षेत्र के विकास में किसी भी तरह की बाधा उत्पन्न न हो और लगातार अच्छी वर्षा के चलते खुशहाली रहे, इसी कामना को लेकर मंगल जलाभिषेक यात्रा का शुभारंभ किया गया था, और आज यह यात्रा हजारों लोगों की आस्था और विश्वास की अनूठी मिसाल बनती जा रही है। यात्रा में निरंतर श्रद्धालुओं की बढ़ोत्री के पीछे मीडिया द्वारा किए गए प्रचार-प्रसार की अहम भूमिका है। इस वर्ष भी यात्रा में शामिल होने वाले श्रद्धालुओं की संख्या में और बढ़ोत्री होने की संभावना है। यह बातें रविवार को विधायक कार्यालय पर मंगल जलाभिषेक यात्रा की रूपरेखा बताने के लिए आयोजित पत्रकारवार्ता को संबोधित करते विधायक अरूण भीमावद ने कही। इस मौके पर भाजपा नगर अध्यक्ष शीतल भावसार, दिलीप भंवर, महेश भावसार, उमेश टेलर, आशीष नागर सहित बडी संख्या में पत्रकार एवं मीडियाकर्मी उपस्थित रहे।
यात्रा के संस्थापक संयोजक एवं क्षेत्रीय विधायक भीमावद ने कहा कि मंगल जलाभिषेक यात्रा में श्रद्धालुओं की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। उन्होने बताया कि पिछले साल यात्रा में करीब १८ हजार श्रद्धालुओं ने शामिल होकर नैनावद स्थित बाबा महाकाल के दरबार पहुंचकर अभिषेक किया था, और इस वर्ष यात्रा में करीब २५ हजार श्रद्धालुओं के सम्मिलित होने की संभावना है। उन्होने बताया कि यात्रा के दौरान पिछले साल जो भी कमी रही थी उसे इस वर्ष की यात्रा में पूरा कर दिया जाएगा। साथ ही यात्रा मार्ग पर अस्थायी शौचालयों की व्यवस्था भी की जाएगी ताकि यात्रियों को किसी तरह की असुविधा का सामना न करना पड़े। जगह-जगह सामाजिक और धार्मिक संगठनों द्वारा फरियाली खिचड़ी का वितरण भी किया जाएगा। विधायक ने बताया कि मंगल जलाभिषेक यात्रा का यह तीसरा वर्ष है और इस वर्ष यात्रा सावन के पहले सोमवार १० जुलाई को निकाली जाएगी। यात्रा मंगलनाथ महादेव मंदिर से प्रारंभ होगी जो नैनावद स्थित महाकाल मंदिर पहुंचकर संपन्न होगी। यात्रा के समापन पर भंडारे का आयोजन किया जाएगा।
निजी स्कूल स्वेच्छा से रखेंगे अवकाश
पत्रकारवार्ता के दौरान विधायक ने बताया कि पिछले साल की यात्रा में आमजन के साथ ही १०६२ सरकारी कर्मचारी अवकाश लेकर सपरिवार शामिल हुए थे। वहीं इस वर्ष कर्मचारियों का यह आंकड़ा दोगुना होने की संभावना है। उन्होने बताया कि कर्मचारी संगठन, किराना संघ, मेडिकल संघ सहित अन्य व्यापारियों ने भी अपने स्तर पर यात्रा का प्रचार-प्रसार करना शुरू कर दिया है। साथ ही निजी स्कूल संचालकों ने भी मंगल जलाभिषेक यात्रा के दिन स्वेच्छा से अपने स्कूल बंद रखने की बात कही है।
स्वच्छता पर रहेगा विशेष ध्यान
मंगल जलाभिषेक यात्रा के दौरान इस वर्ष स्वच्छता पर विशेष ध्यान दिया जावेगा। प्राप्त सुझावो के अनुसार एक अमला समिति का संसाधनो से लेस होकर यात्रा मार्ग मे यात्रियो के पीछे चलेगा, जो यात्रा के दौरान हुए वेस्ट मटेरियल जैसे डिस्पोजल, केले के छिलके, खिचडी के दोने आदि यहां वहां फैली सामग्री तुरंत ही साफ कर स्वच्छता बनाएं रखेंगे। साथ ही यात्री स्वयं भी अपनी और से स्वच्छता का ध्यान रखते हुए वेस्ट मटेरियल निर्धारित स्थानो पर ही डालेंगे। पिछले साल यात्रा के दौरान केले के छिलके सडक़ पर फेंके जाने से यात्रियों को हुई परेशानी के संबध में विधायक भीमावद ने कहा कि इस वर्ष यात्रियों को किसी भी प्रकार की असुविधा न उठाना पड़े, इसको लेकर विशेष टीम तैयार की गई है। साथ ही यात्रियों को केले वितरण करने वाले पंडालों के आसपास डस्टबीन भी रखवाए जाएंगे, जिसकी वजह से सडक़ पर गंदगी भी नही फैलेगी और केले का छिलका दुर्घटना का कारण भी नही बनेगा। 

Shahzad Khan

No comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.