Breaking News
recent

इक्कीसवीं सदी में लड़कियों को बनना होगा स्मार्ट-कोठारी, इटर्नल स्कूल में जैन संगठना की दो दिवसीय कार्यशाला प्रारंभ


शाजापुर (नि.प्र.)। जिस तेजी से वर्तमान दौर में रिश्ते और संबंधों को नीत नई परिभाषाएं मिल रही हैं वहीं ऐसे वक्त में भारत जैसे संस्कृति प्रधान देश में महिलाओं के सम्मान में भी गिरावट देखने को मिल रही है। 21वीं सदी में तेजी से प्रगति पथ पर बढ़ते हुए समाज में युवतियां विभिन्न प्रकार की चुनौतियों का सामना कर रही हैं। अपने ही परिवार में रहने, सुसंवाद रखने, सही मित्रों का चयन करने, आत्मविश्वास बरकरार रखने और मित्रों की अमान्य बातों के प्रभाव से स्वयं को सुरक्षित रखने के लिए युवतियों को प्रशिक्षित किया जाना बहुत आवश्यक हो गया है। इसलिए आज यह स्मार्ट गल्र्स प्रशिक्षण कार्यशाला आयोजित की जा रही है।
उक्त बातें इंदौर से आए मुख्य वक्ता पंकज कोठारी ने गुरुवार को बरवाल रोड़ स्थित इर्टनल स्कूल में 13 से 25 वर्ष की आयु की युवतियों के लिए आयोजित दो दिवसीय कार्यशाला के शुभारंभ सत्र को संबोधित करते हुए कही। इस मौके पर कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि अपर कलेक्टर श्रीमती मीनाक्षी सिंह उपस्थित थीं वहीं विशेष अतिथि के रूप में जैन समाज अध्यक्ष लोकेन्द्र नारेलिया एवं संस्था प्राचार्य श्रीमती सोदामिनी झाला उपस्थित
रहे। सेमीनार को संबोधित करते हुए अपर कलेक्टर श्रीमती सिंह ने कहा कि लड़कियां स्वयं को किसी से कम नही समझें, लेकिन कब, कहां, किस बात को और कैसे करना चाहिए इसका हमेशा ध्यान रखें। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रही जैन संगठना अध्यक्ष श्रीमती संगीता भंडावत ने कहा कि युवतियों को कई आवष्यक जानकारियांे और मार्गदर्षन के साथ ही वैवाहिक बंधन का सुखपूर्वक निर्वाह कैसे करें, इस बात की जानकारी प्रशिक्षण के माध्यम से दी जाएगी। इस दो दिवसीय प्रषिक्षण कार्यषाला का समापन कल शुक्रवार को होगा। कार्यक्रम का संचालन श्रीमती किरण जैन ने किया तथा अंत में आभार श्रीमती रीता गोलेछा ने माना। इस दौरान मुख्य रूप से कीर्ति जैन, नीता जैन, मीनल जैन, प्रीति जैन, अभिनव जैन, मनोज गोलेछा, अरविंद जैन, राजीव जैन, शरद भंडावत, सहित बड़ी संख्या में स्कूल की छात्राएं उपस्थित थीं।

shahzad Khan

shahzad Khan

No comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.