Breaking News
recent

Advertisement

सोमनाथ मंदिर में राहुल गांधी के गैर हिन्दू रजिस्टर पर साइन से चढ़ा सियासी पारा

Adjust the font size:     Reset ↕

गुजरात में 9 दिसंबर को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी और कांग्रेस ने ऐड़ी चोटी का जोर लगा दिया है. लोगों को अपने पाले में लाने के लिए दोनों ही पार्टी के स्टार प्रचारक नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी लगातार मंदिरों के चक्कर काट रहे हैं.
इसी क्रम में आज राहुल गांधी गुजरात के प्रसिद्ध सोमनाथ मंदिर में दर्शन करने पहुंचे. इसी दौरान कांग्रेस से कुछ ऐसी गलती हो गई जिससे राज्य का सियासी पारा चरम पर पहुंच गया है.
दरअसल, सोमनाथ मंदिर में जाने के बाद विजिटर्स रजिस्टर में एंट्री में गैर-हिन्दू लोगों को हस्ताक्षर करने होते है. मंदिर में दर्शन करने गए कांग्रेस उपाध्यक्ष और अहमद पटेल ने गैर-हिन्दू वाले रजिस्टर पर ही साइन कर दिया जिसके बाद राजनीतिक जगत में भूचाल आ गया. यह गलती जान बूझकर की गई या अनजाने में यह अभी साफ नहीं हो पाया है.
विपक्षी पार्टियों ने राहुल गांधी और उनके धर्म को लेकर जमकर निशाना साधा. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रजिस्टर में राहुल गांधी और अहमद पटेल की एंट्री मीडिया को ऑर्डिनेटर मनोज त्यागी ने की थी लेकिन इस पर सियासत काफी गर्मा गई है.
इस वाकये के बाद सत्ताधारी पार्टी बीजेपी राहुल गांधी और कांग्रेस पर निशाना साधने का कोई मौका नहीं छोड़ रही है.
दरअसल, सोमनाथ मंदिर पहुंचने पर जब मंदिर की ओर से कहा गया कि गैर-हिंदू एक अलग रजिस्टर में साइन कर दें, तो कांग्रेस की ओर से वहां मौजूद मीडिया कोऑर्डिनेटर ने अहमद पटेल और राहुल गांधी का नाम बता दिया. इसके बाद दोनों नेताओं ने उस रजिस्टर में अपने दस्तखत कर दिए.
हालांकि इस मामले पर कांग्रेस नेता दीपेंद्र हुडा ने सफाई दी है. उन्होंने कहा, 'यहां सोमनाथ मंदिर में राहुल गांधी के मूल हस्ताक्षर हैं. दूसरे हस्ताक्षर 'राहुल गांधी जी' लिखा गया है, राहुल गांधी जी क्यों लिखेंगे? पता नहीं किसने इसे लिखा था.'
इससे पहले भी कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर उनके धर्म को लेकर सवाल उठ चुके है. बीजेपी नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने सवाल पूछा था कि राहुल गांधी को पहले ये साबित करना चाहिए को वह हिंदू हैं. उन्होंने आगे कहा, 'मुझे शक है कि वो ईसाई हैं और 10 जनपथ के अंदर एक चर्च है.'
मंगलवार अहमदाबाद में हुई प्रेस कांफ्रेंस में केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने राहुल गांधी पर जमकर निशाना साधा था. रविशंकर प्रसाद ने कहा कि राहुल को आतंक की समझ नहीं है. उन्होने कहा कि 'हिंदू आतंकवाद' की रचना करने वाली कांग्रेस अवसरवादी है.
रविशंकर ने कहा, 'हाफिज सईद को लेकर बोलने वाले राहुल के कारण ही विदेशी मीडिया ने हिंदू आतंकवाद को बेहद गंभीर और खतरनाक बताया था.'
गुजरात के चुनावी माहौल में पारा गरमाया हुआ है. कांग्रेस और बीजेपी जमकर एक दूसरे पर निशाना साध रहे है. पीएम मोदी ने आज कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के सोमनाथ मंदिर दर्शन करने को लेकर निशाना साधा. पीएम मोदी ने कहा कि अगर सरदार पटेल नहीं होते तो आज गुजरात में सोमनाथ मंदिर नहीं होता.

Like us on Facebook

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए मालवा अभीतक के Facebook पेज को लाइक करें

Shahzad Khan

No comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.