Breaking News
recent

गुजरात चुनाव 2017- पहला चरण खत्म, ईवीएम की शिकायतों के बीच 68 फीसदी मतदान-देखें पूरी खबर में आज का मतदान

Adjust the font size:     Reset ↕

एजेंसी- गुजरात विधानसभा के पहले चरण में 68 फीसदी मतदान हुआ। हालांकि आखिरी आंकड़ा थोड़ा ऊपर जा सकता है। मतदान के बाद कांग्रेस और बीजेपी अपनी-अपनी जीत का दावा कर रही हैं।

गुजरात विधानसभा चुनाव में पहले चरण की 89 सीटों पर मतदान संपन्न हो गया। चुनाव में 68 फीसदी मतदान हुआ है। मतदान के बाद चुनाव आयोग ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि अंतिम आंकड़ों में मतदान प्रतिशत थोड़े बढ़े हुए हो सकते हैं। पिछले विधानसभा चुनाव में इन सीटों पर औसतन 70 फीसदी मतदान हुआ था। बेहतर मतदान प्रतिशत को देखते हुए कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि पहले चरण में ज्यादा वोटिंग प्रतिशत दर्शाता है कि राज्य बदलाव के लिए तैयार है। उन्होंने कहा, “हमें पूरा विश्वास है कि राज्य में कांग्रेस की सरकार बनेगी।” वहीं बीजेपी ने भी मतदान खत्म होने के बाद अपनी जीत का दावा किया। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि जनता के मूड से साफ है कि बीजेपी को बड़ी जीत मिलने जा रही है। अरुण जेटली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर चुनाव आयोग और गुजरात के मतदाताओं का धन्यवाद किया।

मतदान के दौरान इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) में कई जगहों पर खराबी की शिकायतें मिलीं। सूरत समेत कई जगहों पर ईवीएम में खराबी की शिकायत मिलने के बाद चुनाव अधिकारियों ने ईवीएम को बदला। राजकोट और अमरेली में भी कुछ बूथों पर ईवीएम मशीन में खराबी की वजह से कुछ देर के लिए मतदान पर असर पड़ा। बाद में दोनों जगहों पर ईवीएम बदले जाने के बाद मतदान फिर से शुरू हो गया। चुनाव आयोग को सौराष्ट्र और सूरत के कई मतदान केंद्रों के अलावा वलसाड जिले के कोसाम्बा क्षेत्र में ईवीएम मशीनों में गड़बड़ी होने की कई शिकायतें मिलीं। कांग्रेस नेता अर्जुन मोधवाडिया ने आरोप लगाया कि पोरबंदर में मतदान केंद्र ईवीएम मशीनों को ब्लूटूथ से जुड़े हुए थे। इस मामले में चुनाव आयोग को लिखित शिकायत भी दी गई है। जिसके बाद चुनाव आयोग की एक टीम जांच के लिए उस बूथ पर पहुंची जिसके बारे में शिकायत की गई थी। राजकोट के पूर्व निर्वाचन क्षेत्र में भी ईवीएम मशीनों के साथ छेड़छाड़ होने की बात कही गई। चुनाव आयोग के मास्‍टर ट्रेनर विपुल गोटी ने बताया, "शिकायत के बाद दो मशीनों और एक वीवीपैट को बदला गया। इलेक्‍ट्रॉनिक सामानों में दिक्‍कत तो आती ही है।"

मतदान के दौरान बड़े पैमाने पर ईवीएम और वीवीपैट मशीनों में गड़बड़ी की शिकायत के बाद चुनाव आयोग ने कई स्थानों पर मशीनें को बदला। इसकी जानकारी देते हुए आयोग की ओर से बताया गया कि चुनाव कार्य में लगाई गईं 24,689 वीवीपैट मशीनों में से करीब 470 वीवीपैट मशीनें बदल दी गईं। वहीं शिकायत मिलने पर 26,865 ईवीएम मशीनों में से करीब 100 मशीनों को बदला गया। आयोग ने बताया कि 24,689 कंट्रोल यूनिट में से भी लगभग 94 को शिकायत मिलने के बाद बदल दिया गया।

ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायत के बाद कांग्रेस ने निर्वाचन आयोग से पूरे मामले में कार्रवाई की मांग की। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने चुनाव आयोग से इस मामले में तुरंत कदम उठाने का अनुरोध किया। अहमद पटेल ने ट्वीट किया, "कई मतदान केंद्रों पर ईवीएम में गड़बड़ी होने की खबरें आई हैं। निर्वाचन आयोग से तुरंत जरूरी कदम उठाने का आग्रह करता हूं।"


कांग्रेस की ओर से ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायत के बाद बीजेपी ने अपनी प्रतिक्रिया दी। केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस गुजरात में हार से पहले ईवीएम का बहाना कर रही है। ईवीएम में खराबी के बीच राज्य के मतदाताओं में मतदान को लेकर खासा उत्साह देखा गया। नौजवानों के साथ बुजुर्गों ने भी मतदान में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। कई बूथों पर बुजुर्ग अपना वोट डालने बड़ी संख्या में पहुंचे। वहीं भरूच में एक जोड़े ने शादी से पहले बूथ पर पहुंचकर मतदान किया।

पहले चरण में कच्छ, मोरबी, जामनगर, सुरेंद्र नगर, देवभूमि द्वारका, राजकोट, बटोद, पोरबंदर, जूनागढ़, अमरेली, गिर सोमनाथ, भावनगर, भरूच, नर्मदा, सूरत, तापी, नवसारी, डांग और वलसाड जिलों में कुल 977 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं। कुल 24,689 मतदान केंद्रों पर मतदान हुए। पहले चरण में कुल 2,12,31,652 मतदाताओं में से 1,11,05,933 पुरूष और 1,01,25,472 महिलाएं और 247 थर्ड जेंडर से हैं। 89 सीटों में से सत्तारूढ़ बीजेपी के पास 67 और कांग्रेस के पास 16 सीट है। एक-एक सीट एनसीपी और जेडीयू के पास है जबकि बाकी बची दो सीट से निर्दलीय उम्मीदवार जीते थे। अब दूसरे और आखिरी चरण का मतदान 14 दिसंबर को होगा। और 18 दिसंबर को मतगणना होगी।

खबर नवजीवन के सहयोग से

Like us on Facebook

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए मालवा अभीतक के Facebook पेज को लाइक करें

Shahzad Khan

No comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.