Breaking News
recent

सर्वधर्म विवाह सम्मलेन हेतु एकता ग्रुप की बैठक सम्पन्न- 9वे वर्ष भी समाजसेवा का जज्बा बरक़रार, छोटी सी बात पर शुरू हुआ था सम्मलेन - देखे पूरी खबर

Adjust the font size:     Reset ↕

सर्वधर्म 9वां विवाह-निकाह सम्मेलन 21 अप्रैल 2018 को
शाजापुर। सर्वधर्म विवाह-निकाह सम्मेलन को लेकर गत्् दिवस एकता ग्रुप अध्यक्ष सै. वकार अली के निवास पर बैठक का आयोजन किया गया। वरिष्ठ अभिभाषक काज़ी एहसान उल्ला की सरपरस्ती में बैठक प्रारंभ हुई, जिसमें सर्वसम्मति से कन्याओं का निःशुल्क 9वें सम्मेलन को लेकर रूपरेखा बनाई गई। विगत् वर्षों की तरह इस वर्ष भी एकता ग्रुप द्वारा कन्याओं का निःशुल्क विवाह-निकाह सम्मेलन आगामी 21 अप्रैल
2018 शनिवार को स्थान द्वारिका गार्डन गोवर्धनधाम आदर्श काॅलोनी में रखा गया है। बैठक को सम्बोधित करते हुए ग्रुप अध्यक्ष श्री अली ने कहा कि सामूहिक विवाह सम्मेलन के माध्यम से गरीब परिवारों को अपने बच्चों की शादी करने में काफी मदद मिलती है। वहीं शादी सम्मेलन फिजूलखर्ची रोकने में काफी कारगर साबित हुए हैं। साथ ही समाज से एक बड़ी बुरी कुरीति दूर हुई है। उन्होंने कहा कि लड़की की शादी में सामूहिक भोज का आयोजन नहीं किए जाने से कई गरीब परिवारों को राहत मिली है। उन्होंने कहा कि सामूहिक विवाह में वधु को नई गृहस्थी शुरू करने के लिए ग्रुप की ओर से गृहस्थ जीवन में उपयोग होने वाली वस्तुऐं उपहार स्वरूप भेंट की जाएगी। उन्होंने लोगों से अपील की सम्मेलन में विवाह कराने के लिए रजिस्ट्रेशन करवाना
फाइल फोटो 
शुरू कर दें। बैठक में मुख्य रूप से हाजी मसीद खां, हाजी डाॅ. अशफाक मंसूरी, दाउद सेठ, अययूब मेव, कांग्रेस नेता नरेश कप्तान, शेख शाकिर बुशरा, पत्रकार पीयूष भावसार, मोहसिन मिर्जा, संजय राठौर, हेमंत आर्य, भययु उषा मशीन, भययु मास्टर, बब्लू श्र्ंगारिका, इरफान पटेल, भयया काजी, नदीम, वसीम, जाकिर कुरैशी, जफर बाबा, अरब अली, सत्तार बैग, हाशीम शीशगर, नबी भाई, मुबारिक भाई सहित ग्रुप मेम्बर उपस्थित थे।

9वै वर्ष भी जज्बा बरक़रार-  मालवा के साथ अनेको क्षेत्र में कई स्थानों पर सामाजिक संगठनो ने सामूहिक विवाह सम्मलेन बहुत ही जोश और जज्बे के साथ शुरू किये, लेकिन दो चार या जायदा से ज्यादा पांच वर्ष चलने के बाद वो सम्मलेन या तो विवाद के कारण बंद हो गए या फिर आर्थिक संकट के कारण बंद हो गए, कुछेक ही ऐसे स्थान हे जहा पर सम्मलेन अब भी देखने को मिलेंगे
लेकिन शाजापुर के एकता ग्रुप द्वारा दिनांक १६ मई २०१० से शुरू किया गया सर्व धर्म सामूहिक विवाह सम्मलेन आज भी उसी जज्बे के साथ जारी हे, आपको बता दे की उक्त सम्मेलन के आयोजित होने की तारीख का कई गरीब परिवारों को इन्तजार रहता हे,  
एक गरीब लड़की के विवाह से हुई शुरुआत-  एकता ग्रुप द्वारा सामूहिक विवाह सम्मेलन न तो कोई निजी हित के लिए शुरू हुआ और न ही की कोई झांकी मंडप के लिए शुरू हुआ, उक्त सम्मलेन के शुरू होने की अजीब ही कहानी हे , जो बड़ी अजीब हे, सम्मलेन की शुरुआत के बारे में एकता ग्रुप के अध्यक्ष से.वकार अली ने बताया की वर्ष २००९ की बात हे, शाजापुर में एक विवाह सम्मलेन हो रहा था यहाँ पर एक गरीब परिवार के पास जमा करने के लिए पेसे कम पड़ गए वो परिवार मदद के लिए हमारे पास आया, हमने उक्त आयोजन कमेटी से चर्चा की तो उन्होंने आनाकानी की, इस पर हमारे ग्रुप ने उक्त गरीब परिवार की लड़की का विवाह दिनांक १ मई २००९ को किया और उसी दिन नगर के वरिष्ट और गरीबो के हितो के बारे में सोचने और कुछ करने वाले लोगो के साथ सर्वधर्म निशुल्क सामूहिक निकाह सम्मलेन करने का निर्णय लिया जो आज भी जारी हे,

Like us on Facebook

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए मालवा अभीतक के Facebook पेज को लाइक करें

Shahzad Khan

No comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.