Breaking News
recent

Advertisement

मेरी पत्नी और मेरे बच्चे ये भारत नही हे, ये भारत के ऊपर थोपा गया इन्डिया हे- साध्वी दीदी मां साध्वी ऋतंभरा, मुरलीधर विद्या मंदिर (किडजी)का शुभारम्भ

Adjust the font size:     Reset ↕

शहजाद खान - मक्सी - मेरी पत्नी और मेरे बच्चे ये भारत नही हे, ये भारत के ऊपर थोपा गया इन्डिया हे, और ऐसी सोच रखने वाला कभी सुखी होने वाला नही हे, अत अपने जीवन के आन्नद सबे साथ लीजिये जन्मभूमि और अपने जन्मदाताओ को कभी अकेला मत छोडिये, क्योकि जो बटोरा जाता हे वो विषाद होता हे, और जो बांटा जाता हे वो प्रशाद वो प्रसाद होता हे, उक्त प्रेरक उद्बोधन मुरलीधर कृपा विद्या मंदिर (किडजी)के शुभारम्भ के अवसर पर साध्वी दीदी मां साध्वी ऋतंभरा ने दिए , उन्होंने कहा की ये दुनिया उसी की हे जिसे मुस्कुराना आता हे,और रौशनी भी उसी की हे जिसे शमा जलाना आता हे, यु तो मंदिर, गुरुद्वारे, मस्जिदे बहुत हे दुनिया में पर खुदा तो उसका हे जिसे सर झुकाना आता हे,
अतिथियों द्वारा कार्यक्रम की शुरुआत माँ भारती की मूर्ति के अनावरण और पूजा अर्चना के बाद हुई , अतिथियों ने किडजी विद्या मंदिर का लोकार्पण कर यहाँ मोजूद व्यवस्थाओं को सराहा, अतिथियों का स्वागत, संस्था के चेयरमेन एमपी मानसिंगका, एक स्टाफ ने किया इस दोरान भाजपा के राष्ट्रीय संयोजक और स्वच्छ भारत
अभियान माखनसिंह चौहान, शाजापुर विधायक, उघोगपति रमेश मित्तल, महाराष्ट्र पूर्व अतिरिक्त पुलिस महानिर्देशक टी.एस भाल, गुरु सत्यनारायण मोर्य, प्रदीप पांडे, केसी वादावा, घनश्याम पटेल, आदि मंचासीन थे, कार्यक्रम में दीदी माँ द्वारा प्रवेशित बच्चो को आशीर्वाद एवं किट वितरण किया गया, 
इस अवसर पर समाजसेवी मुकेश गर्ग, श्रीमती सरीता मानसिंगका,श्रीमती नेहा विजयवर्गीय, घनश्यामजी पटेल, सुनील पंड्या, संस्था के मेनेजर दिनेश यादव सहित मक्सी और आसपास के क्षेत्र के हजारो लोग मोजूद थे, 
कार्यक्रम का संचालन करते हुए भाजपा जिला उपाध्यक्ष डॉ रवि पांडे ने कहा की 1980 से सेवारत एमपी मानसिंगका चेरिटीज द्वारा अपने उद्देश्य ‘‘नर सेवा नारायण सेवा’’ के अनुरुप सामाजिक, शिक्षा, स्वास्थ्य एवं धार्मिक क्षेत्रों में अनेक सेवा कार्य किये जा रहे है। इसी श्रृंखला में गत 13 वर्षो से मुरलीधर कृपा हाॅस्पिटल, मक्सी ग्रामीण क्षेत्र में सराहनीय सेवा प्रदान कर रहा है। इसी क्रम में अब किडजी स्कुल का प्रारंभ होना मक्सी जेसे क्षेत्र में शिक्षा के लिए एक बहुत बड़ा कार्य हे
मेरा मानना है कि देश में विद्यालयों की कमी नही है लेकिन शिक्षण का स्तर जिस प्रकार का होना चाहिए उसका अभाव है। विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों में। मुरलीधर कृपा विद्या मंदिर   जिसका संचालन बिना लाभ-हानि के एमपी मानसिंगका चेरिटीज के सहयोग से किया जाना है एक नम्र प्रयास है।
प्रथम चरण की शुरुआत मंे चार कक्षाऐं है जिसमें प्ले स्कूल जो कि डेढ से ढाई वर्ष के बच्चों के लिए, नर्सरी जो कि ढाई से साढे तीन वर्ष के बच्चों के लिए, जुनियर केजी जो साढे तीन से साढे चार साल के बच्चों के लिए एवं सिनीयर केजी जो साढे चार से साढे पांच वर्ष के बच्चों के लिए है। इन कक्षाओं के लिए हमने जी लर्न लिमिटेड के किडजी विभाग से अनुबंध किया है। मुरलीधर कृपा विद्या मंदिर मंे सभी शिक्षिकाओं का चयन किडजी द्वारा उनकी योग्यता, कुशलता, अनुभव के आधार पर किया गया है। बच्चों की सुरक्षा के लिए विद्यालय परिसर में सीसीटीवी केमरे लगाए गऐ है।


सभी कक्ष बच्चों के लिए पूर्णतः सुरक्षित, सर्वसुविधायुक्त पूर्णतः वातानुकुलित है। बच्चों को लाने ले जाने के लिए भी पूर्णतः सुरक्षित वातानुकुलित वाहन की व्यवस्था की गई है। स्कूल के मुख्य द्वार पर विद्या की देवी माॅं सरस्वती की प्रतिमा एवं भारत माता की प्रतिमा लगाई गई है। कक्षा में जाने के पूर्व  बच्चें मांॅ सरस्वती एवं भारत माता की आराधना करेगें। जिससे उनमें देश प्रेम एवं धार्मिक संस्कार आयेगे। 
संस्था के निदेशक मण्डल को पूर्ण विश्वास है कि शिक्षा के क्षेत्र में हमारा यह नम्र प्रयास ईश्वर कृपा आपका सहयोग एवं दीदी माॅ के आशीर्वाद से सफल रहेगा। 

Like us on Facebook

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए मालवा अभीतक के Facebook पेज को लाइक करें

Shahzad Khan

No comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.