Breaking News
recent

Advertisement

शाजापुर 23 अप्रेल डायरी(प्रसासनिक खबरे)

Adjust the font size:     Reset ↕

जिले में अब तक 282713 श्रमिकों का पंजीयन
शाजापुर 23 अप्रैल 2018/ असंगठित श्रमिकों के पंजीयन के लिए एक अप्रैल 2018 से चल रहे अभियान में ग्राम पंचायतों एवं नगरीय निकायों में अबतक 282713 श्रमिकों का पंजीयन हो चुका है। 
प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले मेंं एक अप्रैल से जनपद पंचायत मो. बड़ोदिया में 67047, शुजालपुर में 56062, कालापीपल में 75143 तथा शाजापुर में 56878 का पंजीयन हुआ है। इसी तरह नगरपालिका शाजापुर में अब तक 9696 एवं शुजालपुर में 7239, नगर परिषद पोलायकलॉ में 4049, मक्सी में 3663, अकोदिया में 1451 एवं पानखेड़ी में 1485 श्रमिकों का पंजीयन हुआ।  -----------------------

गर्मी से बचाव के उपाय करें
शाजापुर 23 अप्रैल 2018/ वर्तमान में गर्मी के प्रकोप को देखते हुए म.प्र. राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने मौसम विभाग द्वारा जारी चेतावनी के अनुसार नागरिकों को लू से बचाव के लिए सावधानी बरतने की आवश्यकता बताई है तथा सभी लोगों से लू से बचाव तथा प्राथमिक उपचार के लिए सावधानियां बरतने को कहा है। 
जिला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जी.एल. सोढ़ी ने नागरिकों को सलाह दी है कि वे गर्मी के दिनों में धूप में बाहर जाते समय हमेशा सफेद या हल्के रंग के ढीले कपड़ो का प्रयोग करें। बिना भोजन किये बाहर न निकलें। गर्मी के मौसम में गर्दन के पिछले भाग कान व सिर को गमछे या तौलिये से ढंककर ही धूप में निकलें। रंगीन चश्में व छतरी का उपयोग करें। गर्मी में हमेशा पानी अधिक मात्रा में पियें एवं पेय पदार्थों का अधिक से अधिक मात्रा में सेवन करें। जहां तक संभव हो ज्यादा समय तक धूप में खडे होकर व्यायाम, मेहनत और अन्य कार्य न करें। लू से बचाव के लिये सावधानी जरूरी बरते और नागरिकगण लू के प्रभाव को गंभीरता से लें और सुरक्षित रहें।
क्या करें
    घर से बाहर निकलने के पहले भरपेट पानी अवश्य पियें। सूती, ढीले एवं आरामदायक कपड़े पहनें। धूप से निकलते समय अपना सिर ढककर रखें। टोपी, कपड़ा, छतरी का उपयोग करें। पानी, छांछ, ओ.आर.एस. का घोल या घर में बने पेय पदार्थ जैसे-लस्सी, नीबू पानी, आम का पना, इत्यादि का सेवन करें। भरपेट ताजा भोजन करके ही घर से निकलें। आवश्यक होने पर ही सावधानी बरतते हुए धूप में बाहर निकलें।
क्या न करें
    धूप में खाली पेट न निकलें। पानी हमेशा साथ में रखें। शरीर में पानी की कमी न होने दें। धूप में निकलने के पूर्व तरल पदार्थ का सेवन करें। मिर्च मसाले युक्त एवं बासी भोजन न करें। बुखार आने पर ठंडे पानी की पट्टियां रखें। कूलर या एयर कंडीशन से धूप में एकदम न निकले। धूप में अधिक देर नहीं रहें। 
लू के लक्षण
   सिरदर्द, बुखार, उल्टी, अत्यधिक पसीना एवं बेहोशी आना, कमजोर महसूस होना, शरीर में ऐंठन तथा नब्ज असामान्य होना लू के लक्षण हैं। लू के लक्षण हो तो व्यक्ति को छायादार जगह पर लिटायें। व्यक्ति के कपड़ें ढीले करें। उसे पेय पदार्थ कच्चे आम का पानी आदि पिलायें। तापमान घटाने के लिए ठंडे पानी की पट्टियां रखें। प्रभावित व्यक्ति को तत्काल नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र में ले जाकर चिकित्सकीय परामर्श लें।
-----------------------
मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना हेतु आवेदन आमंत्रित
शाजापुर 23 अप्रैल 2018/ पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यक जाति वर्ग के व्यक्तियों को स्वयं का उद्योग (विनिर्माण)/सेवा/व्यवसाय स्थापित करने हेतु बैंको के माध्यम से ऋण उपलब्ध कराने हेतु मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण के तहत इच्छुक हितग्राहीयों से पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण जिला कार्यालय शाजापुर द्वारा आवेदन आमंत्रित किये गए है। इच्छुक आवेदक अपना आवेदन जिला कार्यालय में प्रस्तुत कर सकते है। मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजनान्तर्गत परियोजना लागत अधिकतम 50 हजार रूपये होगी। मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजनान्तर्गत अनुदान 15 हजार रूपये है। योजना से संबंधित अधिक जानकारी एवं आवेदन फार्म पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यक कल्याण विभाग, जिला-शाजापुर में प्राप्त किये जा सकते हैं। 
-----------------------
श्रमिकां का शत-प्रतिशत पंजीयन कराया जाना सुनिश्चित करें- श्रीमती शर्मा
समय-सीमा पत्रों की समीक्षा बैठक संपन्न
शाजापुर 23 अप्रैल 2018/शहरी एवं ग्रामीण क्षैत्रों के असंगठित श्रमिकों का शत-प्रतिशत पंजीयन कराया जाना सुनिश्चित करें। उक्त निर्देश जिला पंचायत सी.ई.ओ. श्रीमती वंदना शर्मा ने आज समय-सीमा पत्रों की समीक्षा बैठक में सभी नगरीय निकायों के सी.एम.ओ. एवं जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को दिये। श्रीमती शर्मा ने मुख्यमंत्री हेल्पलाईन से प्राप्त होने वाली शिकायतों के निराकरण की स्थिति की समीक्षा की। समर्थन मूल्य पर की जा रही खरीदी की समीक्षा करते हुए उन्होने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिये कि किसानों द्वारा समर्थन मूल्य पर विक्रय हेतु लायी जाने वाली उपज के एफ.ए. क्यू. निर्धारण उपरांत रिजेक्ट करने का रिकार्ड रखें। इस अवसर पर महाप्रबंधक उद्योग श्री मनोज जैन ने बताया कि जिलें में खण्ड स्तरीय एवं जिला स्तरीय स्वरोजगार मेलों का आयोजन किया जाना है। इसके लिये उन्होने आयोजन की तिथियों से अवगत भी कराया। जिसके अनुसार कालापीपल में 28 अप्रैल को, मो.बड़ोदिया में 5 मई को, शुजालपुर में 9 मई को एवं शाजापुर में 17 मई को खण्ड स्तरीय स्वरोजगार मेलें आयोजित होंगे। जिला स्तरीय स्वरोजगार मेलें का आयोजन माह जुलाई में होगा। इस अवसर पर अन्य मुद्दो पर भी विस्तार से चर्चा हुई। 
-----------------------
शुजालपुर में 500 जोड़ो का सामूहिक विवाह 25 अप्रैल को
शाजापुर 23 अप्रैल 2018/ मुख्यमंत्री विवाह सहायता योजना के तहत 25 अप्रैल 2018 को शुजालपुर स्थित जटाशंकर महादेव मंदिर परिसर में 500 जोड़ो के सामूहिक विवाह का आयोजन रखा गया है। इसके लिये अपर कलेक्टर श्रीमती वंदना शर्मा ने व्यवस्थाओं के सुचारू संचालन के लिये महिला सशक्तिकरण अधिकारी सुश्री नीलम चौहान, सी.डी.पी.ओ. शुजालपुर सुश्री मीनाक्षी हरवंश, तहसीलदार शुजालपुर श्री अविनाश मिश्रा व नगरपालिका सी.एम.ओ. श्री प्रमोद शास्त्री की ड्यूटी लगाई है। 
-----------------------

आजीविका मिशन ने पवनबाई की दिव्यांगता को नहीं बनने दिया बाधा
शाजापुर 23 अप्रैल 2018- शाजापुर जिले में कार्यरत आजीविका मिशन से अनेक स्व-सहायता समूहों की महिलायें आत्मनिर्भरता की ओर कदम बढ़ा रही है। ऐसा ही एक उदाहरण है जिले की जनपद पंचायत शाजापुर के ग्राम- दुहानी का, जहां आजीविका मिशन की मदद से यहां कि रहने वाली दिव्यांग महिला पवनबाई को आजीविका चलाने के लिए सहारा मिला। पवनबाई सिलाई का कार्य शुरू कर अब 5 से 7 हजार रूपये प्रतिमाह की कमाई कर रही है। 
पवनबाई का दांया पैर पोलियोग्रस्त है, उसे चलने में कठिनाई होती है, यही दिव्यांगता उनके जीवन में सफलता के लिए रोढ़ा बनी हुई थी। कक्षा 5वी तक पढ़ी-लिखी पवनबाई के मन में आगे बढ़ने व आत्मनिर्भर बनने की ललक थी। किन्तु उनकी दिव्यांगता व जागरूकता की कमी उन्हे आगे नहीं बढ़ने दे रही थी। आर्थिक रूप से कमज़ोर होने की वजह से बच्चों की शिक्षा भी ठीक से नही दिला पा रही थी। पवनबाई स्वरोजगार हेतु सोचती थी, किन्तु धन की कमी उसे वही रोक देती थी। पवनबाई ने अपने पति भंवरसिंह जो कि मजदूरी करते हैं, से भी कई बार चर्चा कि हमें सिलाई कार्य आता है एक सिलाई मशीन व साथ ही मनिहारी की दुकान खुलवा दीजिए, किन्तु पैसे का हवाला देकर उसके पति ने उसे मना कर दिया। पवनबाई जून 2017 में आजीविका मिशन के तहत गठित जय मां सन्तोषी स्व-सहायता समूह से जुड़ी। समूह से जुड़ने के बाद आर्थिक व मानसिक रूप से कमजोर हो चुकी पवनबाई को आगे बढ़ने व आत्मनिर्भर बनने का मार्ग प्रशस्त हुआ। पवनबाई ने नवम्बर 2017 में समूह से कर्ज लेकर एक सिलाई मशीन खरीदी और सिलाई का कार्य शुरू किया। दिव्यांगता की वजह से वह बांये पैर से मशीन चलाती है। सिलाई के साथ उसने लेस व फाल साड़ी में लगाने के साथ-साथ विक्रय का कार्य भी शुरू किया। आज वह महीने में 5000 से 7000 रूपये तक कमा लेती है। अब उसका विचार मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के माध्यम से शाजापुर में साड़ी लेस तथा फाल की दुकान खोलने का है। 
अब पवनबाई की दिव्यांगता सफलता की राह में बाधा नहीं रही, अब उसकी सोच को पंख लग चुके हैं। वह आज मानसिक व आर्थिक रूप से सक्षम हो चुकी है। अपने बच्चों को भी अच्छी शिक्षा भी दिलवा रही है और उसका पति भी उसके काम में सहयोग कर रहा है। 
-----------------------

Like us on Facebook

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए मालवा अभीतक के Facebook पेज को लाइक करें

Shahzad Khan

No comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.