Breaking News
recent

Advertisement

सपाक्स समाज के नवनियुक्त पदाधिकारियों का किया स्वागत -जातिगत आरक्षण व्यवस्था देश के लिए अहितकारी

Adjust the font size:     Reset ↕

शाजापुर। सपाक्स एवं सपाक्स समाज द्वारा आयोजित बैठक में 12 मई को अन्याय दिवस तथा 12 जून को चेतावनी दिवस मनाए जाने का निर्णय लिया गया और सपाक्स समाज के नवनियुक्त पदाधिकारियों का स्वागत किया गया। 
    सपाक्स जिला इकाई द्वारा स्थानीय मां चामुंडा माता मंदिर परिसर में आयोजित बैठक के दौरान सामान्य, पिछड़ा एवं अल्पसंख्यक वर्ग कल्याण समाज संस्था (सपाक्स समाज) के प्रांतीय सचिव तथा प्रांतीय प्रवक्ता मनोज पुरोहित तथा सपाक्स समाज के जिला नोडल ऑफिसर मोहित व्यास का सपाक्स जनों ने स्वागत किया। नवनियुक्त पदाधिकारी श्री पुरोहित एवं श्री व्यास ने कहा कि जातिगत आरक्षण व्यवस्था देश के लिए अहितकारी है, आरक्षण के चलते योग्य युवाओं को रोजगार के अवसर नहीं मिल पा रहे हैं। वर्तमान आरक्षण व्यवस्था से वर्ग विशेष के लोग पीढ़ी दर पीढ़ी आरक्षण का लाभ उठा रहे हैं जबकि वास्तविक हितग्राहियों को शासकीय सेवा मे आने का अवसर ही नहीं मिल पा रहे है। आर्थिक आधार पर आरक्षण किए जाने की मांग को लेकर सपाक्स समाज वृहद आंदोलन करेगा।
    बैठक को संबोधित करते हुए सपाक्स के जिला संरक्षक डीएस जादौन ने कहा कि अनुसूचित जाति व जनजाति वर्ग के मंत्री, सांसद व विधायक अपने वर्गों के लिए इतने समर्पित हैं कि वे अन्यायपूर्ण मांगों तक के लिए एकजुट हैं, वहीं सपाक्स वर्ग का प्रतिनिधित्व कर रहे जनप्रतिनिधि हमारी न्यायोचित मांगों के लिए भी मुखर होना तो दूर, आवाज भी नहीं उठा रहे हैं। ऐसी स्थिति में बहुसंख्यक वर्ग अब मोहभंग की अवस्था में है। सपाक्स के सम्भागीय प्रतिनिधि पीके मंडलोई ने कहा कि म.प्र. शासन एक वर्ग विशेष को पदोन्नति मे आरक्षण का अनुचित लाभ दे रही है जबकि बहुसंख्यक वर्ग सेवाकाल और अनुभव में परिपक्व होते हुए भी कनिष्ट पदों पर रहकर प्रताडित है। जिला चिकित्सालय के सपाक्स नोडल ऑफिसर राजदत्त दुबे ने कहा कि सामान्य, पिछड़ा एवं अल्पसंख्यक वर्ग की पदोन्नतियां न होने से इन वर्गों की भर्तियां भी बाधित हुईं हैं और सपाक्स वर्ग के हजारों नौजवान नौकरियों से वंचित होकर आज भी बेरोजगार हैं। बैठक में डॉ ललित शर्मा, सुबोध पाठक, महेश शर्मा, प्रमोद गुप्ता, रितेश शर्मा, बनवारी बैरागी, महेंद्र आचार्य, ललित कुंभकार, विष्णुप्रसाद चावडा, रूपनारायण शर्मा, जाफर शाह, लोकेंद्र शर्मा, हेमन्त वैद्य, शेलेन्द्र शर्मा, कौटिल्य जोशी, शैलेन्द्र चतुर्वेदी, हेमलता शर्मा, सोनिया व्यास, रेखा शर्मा आदि उपस्थित थी। बैठक का संचालन ब्लॉक नोडल ऑफिसर ललित तिवारी ने किया तथा आभार बबीता लियोपेट्रिक ने माना।

12 जून को सपाक्स व सपाक्स समाज की वाहन रैली व आमसभा

बैठक में सपाक्स जिला नोडल ऑफिसर जॉय शर्मा ने कहा कि 30 अप्रैल 2016 को मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय से सपाक्स ने पदोन्नति में आरक्षण खत्म करने की लड़ाई जीती थी, इस खुशी का जश्न भी पूरा नहीं हुआ था और प्रदेश सरकार 12 मई 2016 को सर्वोच्च न्यायालय से यथास्थिति का आदेश ले आई, वहीं 12 जून 2016 को प्रदेश के मुख्यमंत्री ने वर्ग विशेष के सम्मेलन में बिन बुलाए पहुंचकर सपाक्स को कोई माई का लाल नहीं कहकर ललकारा था। श्री शर्मा ने कहा कि सपाक्स और सपाक्स समाज के प्रांतीय कोर ग्रुप के निर्देशानुसार जिला सपाक्स व सपाक्स समाज द्वारा 12 मई को अन्याय दिवस मनाकर स्थानीय सांसद व विधायकों को पदोन्नति में आरक्षण और एट्रोसिटी एक्ट पर अध्यादेश लाने की कवायद के विरोध में ज्ञापन दिया जाएगा तथा 14 मई से 18 मई तक सपाक्स के शासकीय सेवक काली पट्टी धारण कर शासकीय कार्य कर विरोध दर्ज करवाएंगे। श्री शर्मा ने बताया कि 12 जून को चेतावनी दिवस मनाया जाकर समाज की समरसता भंग करने की कोशिशों के विरोध में शाजापुर नगर में वाहन रैली निकाल आमसभा कर जन जागरुकता लाई जाएगी। आमसभा में सपाक्स जन पदोन्नति में आरक्षण और एट्रोसिटी एक्ट में अध्यादेश का समर्थन करने वाले तथा न्यायालय के निर्णय को शून्य बनाने की कोशिश करने वाले सभी दलों का बहिष्कार करने की शपथ लेंगे।

Like us on Facebook

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए मालवा अभीतक के Facebook पेज को लाइक करें

Shahzad Khan

No comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.