Breaking News
recent

Advertisement

मैदानी स्तर पर योजनाओं के क्रियान्वयन की मॉनीटरिंग के लिये गांव के ही पांच-पांच व्यक्तियों की टीम बनाएं - आगर में आयोजित विशाल सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने दिए निर्देष

Adjust the font size:     Reset ↕

 शाजापुर, 26 मई 2018/ सरकार द्वारा संचालित सभी योजनाओं का क्रियान्वयन मैदानी स्तर पर सही तरीके से हो, इसके लिये कलेक्टर एवं जनप्रतिनिधि मिलकर गांव के ही पांच-पांच व्यक्तियों की टीम बनाए। यह टीम योजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा करेगी और गड़बड़ी नहीं होने देगी। यह बात प्रदेष के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज आगर-मालवा में आयोजित असंगठित श्रमिक, तेन्दूपत्ता संग्राहक, आवासीय पट्टा वितरण, महिला सम्मेलन तथा स्वच्छता सम्मान समारोह को सम्बोधित करते हुए कही। समारोह का शुभारम्भ मुख्यमंत्री श्री चौहान एवं प्रभारी मंत्री श्री सुरेन्द्र पटवा सहित अन्य अतिथियों ने दीप प्रज्जवलित कर किया। इसके उपरान्त मुख्यमंत्री ने पांच कन्याओं का पूजन भी किया।  
समारोह में संस्कृति एवं पर्यटन विकास राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) एवं जिला प्रभारी श्री सुरेन्द्र पटवा, सांसद श्री मनोहर ऊंटवाल, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती कलाबाई गुहाटिया, विधायक आगर श्री गोपाल परमार, सुसनेर श्री मुरलीधर पाटीदार, शाजापुर श्री अरूण भीमावद, शुजालपुर श्री जसवंत सिंह हाड़ा एवं कालापीपल श्री इन्दरसिंह परमार, शाजापुर के सीसीबी संचालक श्री नरेन्द्रसिंह बेस, श्री दिलीप सकलेचा, पूर्व विधायक श्री नेमीचंद जैन, श्रीमती रेखा रत्नाकर, डीआईजी उज्जैन डॉ. रमनसिंह सिकरवार, कलेक्टर आगर-मालवा श्री अजय गुप्ता एवं शाजापुर श्री श्रीकांत बनोठ, पुलिस अधीक्षक आगर-मालवा  श्री मनोज कुमार सिंह एवं शाजापुर श्री शैलेन्द्र सिंह चौहान सहित बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि एवं आमजन उपस्थित थे। 

इस अवसर पर उन्होंने उपस्थित सभी महिला-पुरूषों को गांव को साफ-सफाई से स्वच्छ रखने और अपने बच्चों को अच्छी षिक्षा दिलवाने और सामूहिक रूप से एकता के साथ रहने का संकल्प दिलवाया। उन्होंने सम्बोधित करते हुए गरीबों के कल्याण के लिए मुख्यमंत्री जन कल्याण योजना प्रारम्भ की जा रही है। इस योजना के तहत् अब किसी भी गरीब को भू-खण्ड एवं आवास विहीन नहीं रहने दिया जाएगा। सभी को चार साल के भीतर आवास प्रदान कर दिए जाएंगें। हर गरीब को आवास के लिये पट्टा दिया जाएगा और आवास बनाने के राषि भी देंगे। गरीबों के बच्चों को उच्च षिक्षा के लिये महाविद्यालयों में प्रवेष पर लगने वाला शुल्क राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। इसके अतिरिक्त निजी महाविद्यालयों में मेडिकल, इंजीनियरिंग  या अन्य व्यावसायिक कोर्स में प्रवेष पर षिक्षण शुल्क राज्य शासन द्वारा किया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेष के कोई भी गरीब बिना उपचार के नहीं रहेगा, उसे सरकारी या निजी चिकित्सालयों में भी उपचार की सुविधा प्रदान की जाएगी। मजदूर गर्भवती महिलाओं को गर्भधारण के छः माह से नौ माह के भीतर चार हजार रूपए तथा प्रसव के उपरान्त 12 हजार रुपए की प्रदान किये जाएंगे, ताकि वह अपने स्वास्थ्य के लिये पौष्टिक आहार प्राप्त कर सकें। असंगठित पंजीकृत मजदूर को घरेलू बिजली उपयोग पर बिल के रूप में 200 रुपए प्रतिमाह की दर से भुगतान करना होगा। 
उन्होंने कहा कि गरीब महिलाओं की आमदनी बढे़, इसके लिये भी राज्य सरकार चिन्तित है। उन्होंने कहा कि अजीविका मिषन के तहत् प्रदेष में स्व-सहायता समूहों के माध्यम से महिलाओं को सषक्त बनाया जाएगा। महिलाओं को अचार, पापड़, बड़ी, साबुन आदि के निर्माण का प्रषिक्षण देकर उन्हें आर्थिक रूप से मजबूत बनाने के लिये ऋण भी प्रदान किया जाएगा। स्कूलों में अध्ययनरत् बच्चों को इस वर्ष से सिली-सिलाई गणवेष दी जाएगी। गणवेष की सिलाई का कार्य महिलाओं के समूहों से करवाया जाएगा। साथ ही परिवार में यदि किसी गरीब व्यक्ति जिसकी उम्र 18 से 59 वर्ष हो, उसकी मृत्यु होने पर परिवार को 2 लाख रुपए आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। यदि ऐसे व्यक्ति की दुर्घटना में मृत्यु होती है, तो उसके परिवार को 4 लाख रुपए दिए जाएंगे। साथ ही असंगठित पंजीकृत मजदूर की मृत्यु होने पर उसका अंतिम संस्कार ससम्मान करने के लिये परिवार को 5 हजार रुपए की तत्काल सहायता उपलब्ध कराई जाएगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जन कल्याण योजना का सभी को समान रूप से लाभ प्राप्त होगा। यह योजना 1 अप्रैल 2018 से प्रभावषील रहेगी। असंगठित पंजीकृत मजदूरों को 13 जून को प्रदेष में खण्ड स्तर पर आयोजित होने वाले समारोह में पंजीयन का कार्ड वितरित किया जाएगा। 
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सम्बोधित करते हुए कहा कि बेटियों के लिये प्रदेष में अनेक योजनाएं बनाई जाकर क्रियान्वित की जा रही है। उन्होंने कहा कि बेटियों के जन्म लेते ही लाडली लक्ष्मी योजना, विद्यालय में जाने पर साइकिल का प्रदाय, उच्च षिक्षा पर गांव की बेटी योजना आदि योजनाओं से लाभांवित किया जाता है, वही षिक्षा विभाग में भर्ती पर 50 प्रतिषत महिलाओं को आरक्षण एवं वन विभाग छोड़कर शेष विभागों में 33 प्रतिषत महिलाओं के लिये आरक्षण दिया जा रहा है। वही बेटियों के विवाह पर सहायता के लिये मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना संचालित की जा रही है। 

प्रदेष के किसानों के कल्याण के लिये भी राज्य सरकार चिन्तित है। प्रदेष में किसानों को फसल ऋण पर शून्य प्रतिषत ब्याज दिया जा रहा है। वही किसानों के लिये गए ऋण पर राज्य सरकार 10 प्रतिषत बोनस भी देती है। उन्होंने बताया कि प्रदेष में कृषक प्रोत्साहन योजना के तहत् विगत वर्ष समर्थन मूल्य पर की गई खरीदी पर किसानों को 200 रुपए प्रति क्विंटल की दर से कुल 1700 करोड़ रूपए की राषि उपलब्ध कराई गई, वही इस वर्ष खरीदी पर किसानों को 265रुपए प्रति क्विंटल की दर से अतिरिक्त बोनस 10 जून 2018 को वितरित किया जाएगा। 
उन्होंने कहा कि प्रदेष में विकास की नई इबारत लिखी जा रही है, जिसे कोई बदल नहीं पाएगा। सारी योजनाओं के क्रियान्वयन से किसानों को फायदा मिल रहा है। इससे गांव और किसान खुषहाल होंगे। 
तेन्दूपत्ता संग्राहकों को साड़ी, पानी की कुप्पी एवं चरण पादुका सहित का वितरण
समारोह में तेन्दूपत्ता संग्राहक श्रीमती कालीबाई को मुख्यमंत्री श्री षिवराज सिंह चौहान ने अपने हाथ से चरण पादुका पहनाई एवं पानी की कुप्पी व साड़ी भेंट की। समारोह में शाजापुर एवं आगर-मालवा जिले के कुल 1617 हितग्राहियों को तेंदूपत्ता संग्राहक कल्याण योजना से लाभान्वित  किया गया। योजना के तहत् 1617 संग्राहकों को पानी की कुप्पी, 777 को साड़ी एवं चप्पल तथा 840 को जूते प्रदान किए गए। 
समारोह में भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण मण्डल की योजना, राजस्व विभाग की आवासीय पट्टा योजना, प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, सौभाग्य योजना, बैंक लिंकेज, अजीविका मिषन, लोकतंत्र सेनानी, मेधावी छात्र योजना, लाडली लक्ष्मी योजना, विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं में जिले के नाम रोषन करने वाले खिलाड़ियों, सामाजिक सुरक्षा पेंषन योजना, निःषक्त विवाह पेंषन योजना के चयनित हितग्राहियों को भी मुख्यमंत्री द्वारा लाभान्वित किया गया। इस अवसर पर गो-अभ्यारण्य सालरिया को ट्रेक्टर एवं टेंकर भी दिया गया। समारोह का संचालक एम.पी.एग्रो के प्रबंधक श्री ओ.पी.विजयवर्गीय ने किया तथा आभार जिला पंचायत सीईओ श्री राजेष शुक्ल ने माना। 
----------------------
147.15 करोड़ के कार्यां का भूमि पूजन एवं लोकार्पण
शाजापुर, 26 मई 2018/ मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने समारोह में कुल 147.15 करोड़ रुपए लागत के 53 कार्यां का लोकार्पण एवं भूमिपूजन किया। 
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने 15 करोड़ 74 लाख रुपए लागत के 9 कार्यां का लोकार्पण किया। जिसमें जलसंसाधन विभाग के श्रीपतपुरा वियर लागत 249.71 लाख रुपए एवं कलारिया तालाब लागत 244 लाख रुपए का लोकार्पण किया। इसी तरह लोक निर्माण विभाग पीआईयू द्वारा निर्मित शासकीय हाई स्कूल भवन भवन निर्माण रोझानी लागत एक करोड़ रुपए, गुराड़िया, अम्बाबड़ौद एवं भ्याना लागत एक-एक करोड़, जिला षिक्षा अधिकारी कार्यालय आगर-मालवा भवन लागत 80 लाख रुपए, पिछड़ा वर्ग पोस्ट मैट्रिक बालक छात्रावास तथा पिछड़ा वर्ग पोस्ट मैट्रिक बालिका छात्रावास निर्माण लागत 3-3 करोड़ रुपए कुल 9 कार्य लागत 15 करोड 73 लाख 71 हजार रुपए का लोकार्पण किया। 
इसी तरह मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मध्यप्रदेष ग्रामीण सड़क विकास प्राधिकरण द्वारा निर्मित किये जाने वाले पालड़ा से लाड़वन 12 किमी सड़क लागत 522.42 लाख, निपानिया हनुमान से आगर 15.57 किमी. लागत 532.09 लाख, जीरापुर रोड़ से बड़ागांव 37.90 किमी. 2096.57 लाख रुपए तथा देहरिया सुसनेर से सुसनेर 13.30 किमी. लागत 431.92 लाख रुपए का भूमि पूजन किया।    
इसी तरह जल संसाधन विभाग के सेमलखड़ी तालाब 100 हेक्टर क्षमता लागत 431.30 लाख रुपए, पडाना बैराज 275 हैक्टर क्षमता लागत 438.57 लाख रुपए, छार्दा बैराज 350 है. क्षमता लागत 594.43 लाख रुपए, देवपुर बैराज 480 है. क्षमता लागत 772.05 लाख रुपए, लोधाखेड़ी वियर 540 है. क्षमता लागत 1099.66 लाख रुपए, सेमली तालाब 325 है. क्षमता लागत 965.42 लाख रुपए, सुण्डी तालाब 155 है. क्षमता लागत 462.84 लाख रुपए तथा दावतपुर तालाब 122 है. क्षमता लागत 196.53 लाख रुपए के निर्माण कार्या का भूमिपूजन किया। 
लोक निर्माण विभाग (पीआईयू) द्वारा निर्मित किये जाने वाले शासकीय उ.मा.वि.बीजानगरी, मोल्याखेड़ी, गुर्जरखेड़ी, सूईगांव, डोंगरगांव, सोयतकलां तथा शासकीय कन्या उ.मा.वि. बड़ौद निर्माण लागत एक-एक करोड़ रुपए तथा शासकीय उत्कृष्ट उ.मा.वि. सुसनेर, नलखेड़ा, कन्या नलखेड़ा तथा श्यामपुरा के भवन निर्माण लागत 175-175 लाख रुपए एवं आगर न्यायालय भवन निर्माण लागत 1680.07 लाख रुपए का भूमिपूजन किया। 
लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा जनपद पंचायत आगर क्षैत्र के ग्रामों में  नल-जल योजना ग्राम कुण्डला आगर लागत 64.82 लाख रुपए, ग्राम जगतपुरा लागत 62.32 लाख रुपए, घुरासिया लागत 94.83 लाख रुपए, गुंदीकलां लागत 70.28 लाख रुपए,  जनपद पंचायत बड़ौद क्षैत्र के ग्राम जमुनिया बड़ौद लागत 78.36 लाख रुपए, ग्राम खजुरी बड़ौद लागत 87.39 लाख रुपए, गुराड़िया बड़ौद लागत 78.46 लाख रुपए, हरनावदा लागत 92.85 लाख रुपए, जनपद पंचायत सुसनेर क्षैत्र के ग्राम पायली लागत 148.83 लाख रुपए, ग्राम नांदना लागत 77.76 लाख रुपए, ग्राम कंवराखेड़ी लागत 98.16 लाख रुपए, ग्राम बड़िया लागत 80.50 लाख रुपए तथा जनपद पंचायत नलखेड़ा क्षैत्र के ग्राम पिपल्यासेंत लागत 68.31 लाख रुपए, ग्राम ठिकरिया लागत 61.67 लाख रुपए, ग्राम पड़ाना लागत 78.42 लाख रुपए तथा ग्राम छारड़ा लागत 75.13 लाख रुपए की नल जल योजनाओं का भूमि पूजन किया गया। 
ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग के द्वारा आगर, सुसनेर नलखेड़ा तथा बड़ौद में निर्मित किये जाने वाले महिला अजीविका मिषन प्रषिक्षण केन्द्र भवन लागत 50-50 लाख रुपए का भी भूमिपूजन किया गया। 
----------------------

हेलीपैड पर मुख्यमंत्री श्री चौहान का आत्मीय स्वागत
          शाजापुर, 26 मई 2018/ आगर मालवा में आयोजित असंगठित श्रमिक, तेंदूपत्ता संग्राहक, आवासीय पट्टा वितरण एवं महिला महा सम्मेलन तथा स्वच्छता सम्मान समारोह में सम्मिलित होने आए मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान का हेलीपैड पर जनप्रतिनिधियों ने आत्मीय स्वागत किया। स्वागत करने वालों में सांसद श्री मनोहर ऊंटवाल, स्थानीय विधायक श्री गोपाल परमार, सुसनेर विधायक श्री मुरलीधर पाटीदार, सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, सामाजिक संगठनों के पदाधिकारी मौजूद थे, उन्होंने मुख्यमंत्री श्री चौहान का पुष्प माला पहनाकर एवं पुष्प गुच्छ भेंट कर स्वागत किया। इस अवसर पर डीआईजी डॉ. रमनसिंह सिकरवार, कलेक्टर श्री अजय गुप्ता आदि भी मौजूद थे।
शहर में श्री चौहान का भव्य स्वागत-
इसके साथ ही श्री चौहान के शहर में आगमन पर अन्य सामाजिक संगठनों द्वारा जगह-जगह स्टॉल लगाकर पुष्पमाला पहनाकर एवं फूलों की बौछार कर उनका स्वागत किया गया।

Like us on Facebook

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए मालवा अभीतक के Facebook पेज को लाइक करें

Shahzad Khan

No comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.