Breaking News
recent

Advertisement

किराना दुकानदारों ने ये बेचा तो होगा लायसेंस रद्द- देखे पूरी खबर

Adjust the font size:     Reset ↕


शाजापुर -नए नियम के अनुसार किराना दुकानों से खुला तेल बिकने पर अब खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग कड़ी नजर रखेगा। खुले तेल में मिलावट की आशंका को देखते हुए अब विभाग का अमला औचक निरीक्षण कर किराना दुकानों से इसकी खरीदी बिक्री पर सख्ती करेगा। यदि ऐसा करते कोई पाया गया तो दुकानदार का लाइसेंस रद्द होने साथ अन्य कार्यवाहीया भी हो सकती है। हालांकि किराना व्यापारियों को इस बारे में पहले ही दिशा-निर्देश दिए जा चुके हैं। आपको बता दे कि जिले में फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड एक्ट के तहत अनेक खाद्य एवं पेय पदार्थों के कारोबारियों ने लाइसेंस बनवाकर रजिस्ट्रेशन बनवाए हैं। जिले में 3800 के लगभग रजिस्ट्रेशन तो 200 के लगभग लाइसेंस बनाए जा चुके हैं। इस एक्ट के तहत कार्रवाई हो तो सजा व जुर्माने दोनों का प्रवधान है। जानकारी के अनुसार लाइसेंस नहीं पाए जाने पर 6 माह तक की सजा और एक लाख रुपए तक का जुर्माना और रजिस्ट्रेशन नहीं होने पर अधिकतम 25 हजार रुपए का जुर्माने का प्रावधान है। इसी एक्ट के तहत लूज तेल का विक्रय आम लोगों को किया जाना पहले ही प्रतिबंधित है लेकिन कुछ दुकानों पर इसकी खरीदी फरोख्त हो रही है। कई उपभोक्ता थोड़े से कम दाम होने के लालल में इसे खरीदने में रुचि दिखाते हैं जबकि सोयाबीन या मूंगफली तेल के नाम पर मिलावटी तेल उपभोक्ताओं को थमा दिया जाता है। जिसका स्वास्थ्य पर विपरीत असर पड़ता है। इसी तारतम्य में शासन द्वारा तेल सहित अन्य सामग्री के खुले विक्रय पर प्रतिबंध लगाया हुआ है। पाबंद के बावजूद कई दुकानों पर इसे बेचा जाता देखा जा सकता है। लूज तेल के ड्रम से किराना दुकानों पर तेल निकालकर उसे खुले में बेचा जाता है। अब खाद्य सुरक्षा अधिकारी लूज तेल की बिक्री आम लोगों को नहीं की जाए इसे लेकर निगरानी करेंगे। खाद्य सुरक्षा अधिकारी श्री काम्बले ने बताया कि खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग की आयुक्त द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के दौरान प्रदेश भर में लूज तेल पर विशेष ध्यान दिए जाने को लेकर दिशा-निर्देश दिए हैं। वीसी में जिले के खाद्य सुरक्षा अधिकारी आरके कांबले एवं एसएस खत्री भी मौजूद थे। वीसी में मिले निर्देशों के बाद लूज तेल की बिक्री किसी भी हालत में नहीं करने को लेकर उन्होंने दुकानदारों को सख्त हिदायद दी है।

इनका कहना हैं

-लूज तेल में मिलावट की आशंका ज्यादा रहती है। इससे कई तरह की बीमारियां हो सकती हैं। लूज तेल निर्माता से लेकर पैकर्स तक नियमानुसार भेजा जा सकता है, लेकिन दुकानदार सीधे उपभोक्ताओं को खुला तेल विक्रय नहीं कर सकता। ऐसा करते पाए जाने पर सख्त कार्रवाई होगी। -आरके कांबले, खाद्य सुरक्षा अधिकारी
----------------
दुकान से ग्राहक को खुला तेल बेचते पाए जाने पर इसे नियम का उल्लंघन माना जाएगा। नियमानुसार दुकानदार का रजिस्ट्रेशन व लाइसेंस भी रद्द किया जाएगा। -एसएस खत्री, खाद्य सुरक्षा अधिकारी

Like us on Facebook

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए मालवा अभीतक के Facebook पेज को लाइक करें

Shahzad Khan

No comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.