Breaking News
recent

Advertisement

मरीजों को अब सोनोग्राफी के लिए शहरों के बड़े अस्पतालों के चक्कर नहीं काटना पड़ेगा, आयुर्वेद चिकित्सक भी चला सकेंगे सोनोग्राफी सेंटर, सीसीआईएम ने हेल्थ मिनिस्ट्री को भेजा प्रस्ताव

Adjust the font size:     Reset ↕

मक्सी l  प्रदेश सहित देशभर के मरीजों को अब सोनोग्राफी और एक्सरे करवाने के लिए शहर के बड़े अस्पतालों मे जाने की जरूरत नहीं रहेगी l
अब बीएएमएस चिकित्सक सोनोग्राफी तथा एक्स रे सेंटर चला सकेंगे, इस संबंध मे एक प्रस्ताव सेंट्रल कोंसिल ऑफ इंडियन मेडिसिन हेल्थ मिनिस्ट्री  को भेजा है l
यह जानकारी देते हुवे मध्य प्रदेश आयुष चिकित्सक कमेटी के प्रदेश प्रवक्ता डॉ गोविन्द मालवीय ने बताया की सीसीआईएम ने केंद्रीय स्वास्थ तथा परिवार कल्याण मंत्रालय को पत्र भेजकर अनुमति मांगी है की देश के बीएएमस चिकित्स्कों को कानून -नियम बनाकर सोनोग्राफी तथा एक्स रे सेंटर चलाने की अनुमति दी जावे l
देश भर के 5 लाख से अधिक आयुर्वेद चिकित्स्कों को इसका लाभ मिल सकेगा l
साथ ही गर्भवती महिलाओ  की सोनोग्राफी की सुविधा गाँवो मे होने से गर्भ  मे पल रहे शिशु की उचित देखभाल हो सकेगा तथा सरकार के इस निर्णय से शिशु तथा मातृ मृत्यु दर मे कमी आएगी l
इसके लिए बीएएमस चिकितसक  को इमेजिंग एन्ड रेडियोडायग्नोसिस मे पीजी करनी होंगी तभी वो सोनोग्राफी तथा एक्स रे  सेंटर चला सकेगा l
हेल्थ मिनिस्ट्री से स्वीकृति मिलने पर संभावना  है की जल्द उज्जैन, इंदौर, भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर सहित प्रदेश के आयुर्वेदिक मेडिकल कालेजो मे सोनोग्राफी तथा एक्स रे के लिए पीजी कोर्स चालू हो सकेंगे l
मध्य प्रदेश आयुष चिकित्सक कमेटी के संयोजक डॉ कैलाशचंद्र ओरिया, डॉ जी के जैन, डॉ वि के व्यास, डॉ अमर सिंह बडाल, डॉ रईस खान, डॉ प्रदीप मधुर, डॉ राकेश पाण्डेय, डॉ अजय परमार,डॉ योगेश तारण, डॉ हेमंत परमार, डॉ इरफ़ान खान डॉ देवेंद्र चौधरि, डॉ अतुल राठौर, डॉ सुरेंद्र सिन्हा ने स्वास्थ मंत्रालय तथा सीसीआईएम का आभार व्यक्त किया है l

Like us on Facebook

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए मालवा अभीतक के Facebook पेज को लाइक करें

Shahzad Khan

No comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.