Layout Style

Full Width Boxed

Background Patterns

Color Scheme

Top Ad unit 728 × 90

Trending

random

शिक्षक, विद्यार्थियों के पथ-प्रदर्शक बने-डाॅ. शर्मा, निःशुल्क एवं अनिवार्य बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम पर कार्यशाला आयोजित

शाजापुर, 21 दिसम्बर 2016/शिक्षक, विद्यार्थियों के पथ-प्रदर्शक बने। शिक्षक ही विद्यार्थियों को सही दिशा में मोड़ सकता है। यह बात मध्यप्रदेश बाल अधिकार संरक्षण आयोग अध्यक्ष (कैबीनेट मंत्री दर्जा) डाॅ. राघवेन्द्र शर्मा ने आज शाजापुर में निःशुल्क एवं अनिवार्य बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 पर आयोजित कार्यशाला में मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित करते हुए कही।
श्री शर्मा ने कहा कि बच्चों की शिक्षा में आ रहे अवरोधों के कारणों का पता करें। साथ ही शिक्षक देखे कि बच्चे स्कूल क्यों नहीं आ रहे हैं। बच्चों को स्कूल तक लाने के लिए क्या उपाय करना होंगे। शिक्षक यदि थोड़ा सा भी ध्यान दे दे तो बच्चों की शिक्षा के अवरोध समाप्त हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि दी जाने वाली शिक्षा पथ प्रदर्शक होना चाहिए। बच्चों को प्रारंभ से ही संस्कारित करते हुए गलत और सही का भेद बताए, उन्हें सदमार्ग पर चलने के लिए शिक्षा दें। शिक्षक यदि अपने कर्तव्यों को ईमानदारी से पालन करेंगे तो वह दिन दूर नहीं जब बच्चे संस्कारित होकर सेवाभावी बनेंगे। शिक्षक द्वारा बताई गई बाते बच्चे दिल से आत्मसात करते हैं, इसलिए शिक्षक को आदर्श स्थापित करना होगा। उन्होंने शिक्षको से अपेक्षा की कि वे कर्तव्यों से विमुख नहीं होंगे। शिक्षक समाज में बदलाव की ताकत रखता है। इसलिए आने वाली पीढ़ी के मार्गदर्शक के रूप में शिक्षक की भूमिका महत्वपूर्ण है।
इसके पूर्व कार्यशाला का शुभारंभ माॅं सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। उपस्थित अतिथियों का स्वागत श्रीफल एवं पुष्पहार से किया गया। कार्यशाला को प्राचार्य श्री घनश्याम दीक्षित, श्री जगदीश भावसार, श्री शैलेन्द्र जैन, श्री सुभाषचंद्र वैष्णव ने भी संबोधित किया।
इस अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी श्री थामस भूरिया, महिला एवं बालविकास कार्यक्रम अधिकारी श्री डी.एस. जादौन, श्रम पदाधिकारी श्री एच.एन. शर्मा, डीपीसी श्री आर.एस. शिप्रे, श्री एस.के. राठौर, खण्डशिक्षा अधिकारी, खण्ड स्त्रोत समन्वयक, अशासकीय संगठनों के पदाधिकारी एवं विद्यालयों के प्राचार्य भी मौजूद थे। कार्यशाला का संचालन श्री महेन्द्र सोनी एवं श्री संतोष मालवीय ने किया।

शिक्षक, विद्यार्थियों के पथ-प्रदर्शक बने-डाॅ. शर्मा, निःशुल्क एवं अनिवार्य बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम पर कार्यशाला आयोजित Reviewed by Anonymous on 12/21/2016 Rating: 5

Copyright © Malwa Abhi Tak
Devloped By Sai Web Solution

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.