Layout Style

Full Width Boxed

Background Patterns

Color Scheme

Top Ad unit 728 × 90

Trending

random

कृषि के साथ-साथ पशुपालन को आय का स्त्रोत बनाए- कलेक्टर श्री बनोठ, गोपाल पुरस्कार योजना के प्रतियोगियों को पुरस्कार वितरित

शाजापुर, 25 नवम्बर 2017/किसान भाई कृषि के साथ-साथ पशुपालन को आय का स्त्रोत बनाए। यह बात कलेक्टर श्री श्रीकांत बनोठ ने आज जिला स्तरीय गोपाल पुरस्कार योजना में सम्मिलित प्रतियोगियों को पुरस्कार वितरण समारोह में कही। इस अवसर पर सामाजिक कार्यकर्ता श्री रमेश पाटीदार, श्री शीतल भावसार, पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष डॉ. बसंत भट्ट, प्रभारी जिला पंचायत सीईओ श्री एच.एल. वर्मा, उपसंचालक कृषि श्री संजय दोशी व उद्यानिकी श्री के.एस. गुर्जर, सहायक संचालक मत्स्य श्री कमलेश खरे भी उपस्थित थे। समारोह का शुभारंभ मॉं सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। साथ ही गायों की पूजा भी की गई। 
कलेक्टर श्री बनोठ ने प्रतियोगिता में सम्मिलित पशुपालको से कहा कि पशुपालन से अच्छी आमदनी हो सकती है। पशुचिकित्सा विभाग द्वारा प्रतिवर्ष दो बार गोकुल महोत्सव मनाया जाता है। इस महोत्सव में गांव-गांव जाकर चिकित्सक पशुओं का टीकाकरण करते हैं। गोकुल महोत्सव से पशुधन की बीमारियों की दर में गिरावट आई है। उन्होंने सभी पशुपालकों से कहा कि कृषि की अनिश्चितता को देखते हुए खेती के साथ-साथ पशुपालन को आय का स्त्रोत बनाया जाना चाहिए। राज्य शासन द्वारा सभी गांवो को मिल्करूट से जोड़ने का काम किया जा रहा है। इससे दुग्ध उत्पादको को दुध बेचने में आसानी रहेगी। वर्तमान में हमारा प्रदेश दुग्ध उत्पादन में तीसरे नम्बर पर है। सभी के प्रयासों से प्रदेश प्रथम नम्बर पर आ सकता है। इस अवसर पर श्री रमेश पाटीदार एवं डॉ. बसंत भट्ट ने भी संबोधित किया। 
उपसंचालक पशुचिकित्सा डॉ. एन.एस. सिकरवार ने गोपाल पुरस्कार योजना पर प्रकाश डालते हुए बताया कि देशी नस्ल की गाय एवं भैंस वंश के प्रति आकर्षण पैदा करने के उद्देश्य से राज्य शासन द्वारा संचालित गोपाल पुरस्कार योजना क्रियान्वित की जा रही है। इसके लिए जिले में 6 नवम्बर से 15 नवम्बर 2017 तक खण्ड स्तरीय प्रतियोगिताएं सम्पन्न हुई। इन प्रतियोगिताओं में प्रथम तीन पशुओं को जिला स्तरीय प्रतियोगिता के लिए चयन किया गया था। जिला स्तरीय प्रतियोगिता 24 नवम्बर से 25 नवम्बर 2017 तक आयोजित हुई। जिसमें दुग्ध उत्पादन के आधार पर तीन गौवंश एवं तीन भैंस वंश के पशुओं को प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरस्कारो से सम्मानित किया गया।  
पुरस्कारों का वितरण-
गौवंश एवं भैंस वंश की देशी प्रजाति के लिए सम्पन्न हुई जिला स्तरीय गौपाल पुरस्कार प्रतियोगिता में गौवंश के लिए ग्राम रिंगनी खेड़ा के वीरेन्द्र सिंह पिता मेहरबान सिंह को प्रथम पुरस्कार दिया गया। श्री वीरेन्द्र की गिर नस्ल की गाय का तीन समय के दुध उत्पादन 13.816 लीटर था। इसी तरह पिपलिया गोपाल के रामकृष्ण पिता शिवकरण को द्वितीय पुरस्कार दिया गया। श्री रामकृष्ण की गिर नस्ल की गाय का तीन समय का दुग्ध उत्पादन 13.733 लीटर था। तृतीय पुरस्कार गुलाना के बालकृष्ण पिता सिद्धनाथ को मालवी नस्ल की गाय के तीन समय के दुग्ध उत्पादन 12.426 लीटर के लिए दिया गया। 
इसी तरह भैंस वंश के लिए पनवाड़ी के लिए श्री राजेश पिता श्री प्रहलाद पाटीदार को मुर्रा प्रजाति की भैंस के तीन समय के औसत दुग्ध उत्पादन 16.826 लीटर के लिए प्रथम पुरस्कार दिया गया। इसी तरह शाजापुर के श्री विपिन कुमार पिता श्री रूपकिशोर को मुर्रा प्रजाति की भैंस के तीन समय के औसत दुग्ध उत्पादन 16.590 लीटर के लिए द्वितीय एवं कालापीपल के बड़वेली निवासी श्री शिवपाल सिंह पिता श्री नंदकिशोर सिंह को मुर्रा प्रजाति की भैंस के तीन समय के औसत दुग्ध उत्पादन 15.796 लीटर के लिए तृतीय पुरस्कार पुरस्कार दिया गया। इसके साथ ही प्रतियोगिता में सम्मिलित सभी प्रतिभागियों को भी सात्वंना पुरस्कार दिया गया।
जिला स्तरीय प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार के रूप में 50 हजार रूपए, द्वितीय पुरस्कार के रूप में 25 हजार रूपए, तृतीय पुरस्कार के रूप में 15 हजार रूपए एवं सांत्वना पुरस्कार के रूप में 5-5 हजार रूपए प्रदान किए गए। जिला स्तरीय प्रतियोगिता में खण्ड स्तर पर संपन्न हुई प्रतियोगिता में प्रथम द्वितीय एवं तृतीय आने वाली गायों को सम्मिलित किया गया था। प्रतियोगिता में कुल 9 गाय एवं 9 भैंस सम्मिलित हुई थी। 
क्रमांक 72/1073

पतौली में 29 नवम्बर को जिला स्तरीय लोक कल्याण शिविर
शाजापुर, 25 नवम्बर 2017/जनपद पंचायत शाजापुर के ग्राम पतौली में 29 नवम्बर को प्रातः 11.00 बजे से जिला स्तरीय लोक कल्याण शिविर आयोजित किया गया है। शिविर में ग्रामीणजनों की समस्याओं का मौके पर निराकरण किया जाएगा। वहीं शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं तथा कार्यक्रमों की जानकारी भी दी जाएगी। साथ ही जनस्वास्थ्य परीक्षण एवं पशुस्वास्थ्य परीक्षण शिविर में लगाए जाएंगे। 
क्रमांक 73/1074

मुख्यमंत्री स्वरोजगार एवं कौषल सम्मेलन 28 नवंबर को
      शाजापुर, 25 नवम्बर 2017/क्षेत्रीय सांसद श्री मनोहर ऊॅटवाल के मुख्य आतिथ्य में 28 नवंबर 2017 को प्रातः 11 बजे से शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय, खेल मैदान आयोजित मुख्यमंत्री स्वरोजगार एवं कौषल सम्मेलन आयोजित किया गया है। इस अवसर पर विधायक शुजालपुर श्री जसवंत सिंह हाड़ा समारोह की अध्यक्षता करेंगे। 
क्रमांक 74/1075

कृषि के साथ-साथ पशुपालन को आय का स्त्रोत बनाए- कलेक्टर श्री बनोठ, गोपाल पुरस्कार योजना के प्रतियोगियों को पुरस्कार वितरित Reviewed by Anonymous on 11/25/2017 Rating: 5

Copyright © Malwa Abhi Tak
Devloped By Sai Web Solution

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.