Layout Style

Full Width Boxed

Background Patterns

Color Scheme

Top Ad unit 728 × 90

Trending

random

ज्ञान, भक्ति एवं कर्म का त्रिवेणी संगम है, आदि गुरू श्री शंकराचार्य-मुख्यमंत्री श्री चौहान, एकात्म यात्रा के दौरान शाजापुर में विशाल जनसंवाद सम्पन्न

शाजापुर, 18 जनवरी 2018/मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि एकात्म यात्रा के माध्यम से मध्यप्रदेश की धरती से जगत के कल्याण का मार्ग प्रशस्त हो रहा है। यह यात्रा भेदभाव मिटाकर सामाजिक समरसता का भाव जागृत कर रही है। आदि गुरू शंकराचार्य का अद्वैत वाद, अद्वैत दर्शन समाज से भेदभाव मिटा सकता है। समाज को एकजुट कर सामाजिक समरसता का मूलमंत्र देने वाला भी अद्वैत वाद है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान एकात्म यात्रा के दौरान शाजापुर के उत्कृष्ट विद्यालय परिसर में आयोजित जनसंवाद कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर प्रभारी मंत्री श्री दीपक जोशी, सिंहस्थ समिति के अध्यक्ष श्री माखन सिंह चौहान, सांसद श्री मनोहर ऊॅटवाल, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के अ.भा. सर सह कार्यवाहक श्री वी. भागैया, ऊर्जा विकास निगम के अध्यक्ष श्री विजेन्द्र सिंह सिसोदिया, पाठ्य पुस्तक निगम के अध्यक्ष श्री रायसिंह सेंधव, खादी ग्रामोद्योग बोर्ड चेयरमेन श्री सुरेश आर्य, यात्रा के प्रदेश सह संयोजक श्री नारायण व्यास, जनअभियान परिषद के प्रदेश उपाध्यक्ष श्री प्रदीप पाण्डेय, विधायक शुजालपुर श्री जसंवत सिंह हाड़ा, शाजापुर श्री अरूण भीमावद्, कालापीपल श्री इंदरसिंह परमार, श्री नेमीचंद जैन, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक अध्यक्ष श्री शिवनारायण पाटीदार, जिला यात्रा प्रभारी श्री गिरीराज भाई मण्डलोई एवं मुख्यमंत्री जी की धर्मपत्नी श्रीमती साधना सिंह एवं अन्य जनप्रतिनिधि मंचासीन थे। 

जनसंवाद में स्वामी श्री संवित सोमगिरी जी महाराज बिकानेर, स्वामी भूमानंद जी महाराज जोधपुर, स्वामी नर्मदानंद जी महाराज ओमकारेश्वर, स्वामी आध्यात्मानंद जी महाराज अहमदाबाद एवं संत श्री रघुनाथदास जी, रामदास जी, त्रिलोकदास जी, श्री बालकदास जी, श्री हरिदास जी, श्री गोविन्द दास जी, श्री उमेशनाथ जी, श्री तिलकनाथ जी आदि संतगण भी मंचासीन थे। 
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मानव जीवन का अंतिम लक्ष्य परमात्मा की प्राप्ति करना है। इस लक्ष्य की प्राप्ति ज्ञान मार्ग, भक्ति मार्ग एवं कर्म मार्ग पर चलकर की जा सकती है। आदि गुरू श्री शंकराचार्य ज्ञान, भक्ति एवं कर्म का त्रिवेणी संगम है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने जनसंवाद में उपस्थित जनसमुदाय को एकात्म वाद का संकल्प दिलाया और एकात्म यात्रा पर आधारित चित्रकला व अन्य प्रतियोगिताओं के विजेता छात्र-छात्राओं को प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया। 
राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के अ.भा. सर सह कार्यवाहक श्री वी. भागैया ने कहा कि आदि गुरू ने न केवल भारत बल्कि संपूर्ण विश्व को अद्वैत दर्शन दिया है। विश्वकल्याण, सामाजिक एकता, सामाजिक समरसता के लिए अद्वैत दर्शन एक मात्र उपाय है। उन्होंने समाज के सभी वर्गो से मिलजुलकर एक जुटता के साथ रहने का आव्हान भी किया। संत स्वामी आध्यात्मानंद जी महाराज अहमदाबाद ने आदि गुरू शंकराचार्य के जीवन वृत पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए कहा कि उन्होंने मध्यप्रदेश के ओमकारेश्वर की धरती को पवित्र किया है। एकात्म यात्रा जन-जन को एक करने का माध्यम है। परस्पर प्रेम, सद्भाव, एकता, अखण्डता एवं समरसता बनी रहे। समाज में मातृ शक्ति का सम्मान हो। संत श्री ने कहा कि संपूर्ण राष्ट्र में मध्यप्रदेश की कार्य पद्धति मॉडल बनेगी। स्वामी श्री संवित सोमगिरी जी महाराज बिकानेर ने कहा कि एकात्म यात्रा से देश और प्रदेश में ऐसा वातावरण निर्मित हुआ है कि संपूर्ण देश मध्यप्रदेश की और देख रहा है। एकात्म यात्रा प्रेम, आनंद, सौहार्द एवं आत्मीयता की यात्रा है। श्री सोमगिरी जी ने कहा कि धर्म, आध्यात्म एवं विश्वास का प्रतीक बनती जा रही है एकात्म यात्रा। इस यात्रा को प्रदेश वासियों का अभूतपूर्व सहयोग मिल रहा है। 
विधायक शाजापुर श्री भीमावद ने स्वागत भाषण में एकात्म यात्रा की विस्तृत रूप रेखा प्रस्तुत की। जनअभियान परिषद के प्रदेश उपाध्यक्ष श्री प्रदीप पाण्डे ने एकात्म यात्रा की प्रदेश स्तरीय विस्तृत रूप रेखा प्रस्तुत करते हुए ओमकारेश्वर में स्थापित होने वाली 108 फिट ऊॅंची धातु की प्रतिमा निर्माण के बारे में बताया। प्रारंभ में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान एवं संतगणो ने आदि गुरू शंकराचार्य की चित्र पर पूजन अर्चन एवं दीप प्रज्ज्वलित कर जनसंवाद कार्यक्रम का शुभारंभ किया। तत्पश्चात मुख्यमंत्री श्री चौहान ने उपस्थित संतगणों का पुष्पहार एवं शाल ओढ़ाकर स्वागत किया। सांसद श्री ऊॅटवाल एवं विधायकगणों ने मुख्यमंत्री एवं मंचासीन अतिथियों का स्वागत किया। चैन्नई के समूह द्वारा आदि गुरू शंकराचार्य के जीवन वृत पर आधारित नाटिका का मंचन किया एवं नृत्य नाटिका भज गोविन्दम-भज गोविन्दम प्रस्तुत की। 
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जनसंवाद कार्यक्रम के बाद मंच से उतरकर आमजनों के बीच जाकर उनका अभिवादन किया तथा पत्रकार दिर्घा में बैठे निःशक्त टाण्डा बंजारी निवासी गोविन्द गुर्जर एवं उनके परिजनों से भेंटकर हर संभव सहयोग का विश्वास दिलाया। 
इस मौके पर कमिश्नर उज्जैन श्री एम.बी. ओझा, एडीजीपी श्री वी. मधुकुमार, कलेक्टर श्री श्रीकांत बनौठ, पुलिस अधीक्षक श्री शैलेन्द्र सिंह चौहान, जनअभियान परिषद संभाग समन्वयक श्री वरूण आचार्य, जनअभियान परिषद जिला उपाध्यक्ष श्री लक्ष्मीकांत माहेश्वरी सहित अन्य अधिकारी, सह प्रांत प्रचारक श्री बलिराम पटेल, जनप्रतिनिधिगण, गणमान्य नागरिक, पत्रकारगण एवं बड़ी संख्या में ग्रामीणजन एवं महिलाएं मौजूद थी। कार्यक्रम का संचालन हेमंत दुबे ने किया तथा अंत में श्री नरेन्द्र सिंह बैस ने आभार व्यक्त किया।

एकात्म यात्रा में शामिल हुए मुख्यमंत्री श्री चौहान
शाजापुर, 18 जनवरी 2018/आदिगुरु शंकराचार्य जी की प्रतिमा निर्माण हेतु धातु संग्रहण और जनजागरण हेतु निकाली जा रही एकात्म यात्रा के शाजापुर में भ्रमण के दौरान  मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान भी यात्रा में शामिल हुए। नगर के श्रीकृष्ण टाकीज़ चौराहे पर यात्रा में शामिल होकर मुख्यमंत्री श्री चौहान  ध्वज हाथ मे लेकरऔर मुख्यमंत्री जी की पत्नी श्रीमती साधना सिंह ने  सिर पर कलश रखकर नगर भ्रमण किया। यात्रा का नगर के गणमान्य नागरिको ने पुष्प वर्षा कर स्वागत किया। यात्रा श्रीकृष्ण चौराहे से चलते हुए यात्रा उत्कृष्ट विद्यालय में बनाये सभास्थल पर पहुंची। 
      इस अवसर पर विधायक सर्व श्री अरुण भीमावद, शुजालपुर जसवंत सिंह हाड़ा एवं सुसनेर श्री मुरलीधर पाटीदार ,नरेंद्र सिंह बैस भी मौजूद थे।
ज्ञान, भक्ति एवं कर्म का त्रिवेणी संगम है, आदि गुरू श्री शंकराचार्य-मुख्यमंत्री श्री चौहान, एकात्म यात्रा के दौरान शाजापुर में विशाल जनसंवाद सम्पन्न Reviewed by Anonymous on 1/18/2018 Rating: 5

Copyright © Malwa Abhi Tak
Devloped By Sai Web Solution

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.