Layout Style

Full Width Boxed

Background Patterns

Color Scheme

Top Ad unit 728 × 90

Trending

random

हमने तो कभी सोचा ही नहीं था, पिछले साल गेहूँ बेचकर पूरी कीमत पाई और आज फिर मिल गई (कहानी सच्ची है) "सफलता की कहानी" प्रोत्साहन राशि शाजापुर किसान महासम्मेलन से मुस्कान लेकर घर लौटे किसान

शाजापुर | 16-अप्रैल-2018

   शाजापुर में आज आयोजित किसान महासम्मेलन में आए लाखो किसान उस वक्त गद-गद होकर वापस अपने घर लौटे जब उनके मोबाईल में पिछले साल बेंचे गेहूँ की प्रोत्साहन राशि का मैसेज कृषक समृद्धि योजना के तहत आया। यह राशि उनके खातों में जमा हो गई। आम के आम गुठली के दाम यह कहावत आज के किसान महासम्मेलन में चरितार्थ हो उठी जब आगर जिले के ग्राम लोटियो किसना के अनुसूचित जाति के किसान कालूराम पिता कचरा के मोबाईल पर गत वर्ष बेचे गए 150 क्विंटल गेहूँ की प्रोत्साहन राशि के रूप में 30 हजार रूपये उनके बैंक खाते में जमा किये जाने का मैसेज पड़ा हुआ था। कालूराम की खुशी का ढिकाना नहीं था। उनका कहना था कि इस साल लड़की की शादी करना है। गेहूँ बेचने पर मिली प्रोत्साहन राशि से विवाह के बहुत सारे कार्य करने में अब सुविधा हो गई है।
   शाजापुर जिले के 20 हजार से ज्यादा किसानों के लिए आज का दिन बहुत सुनहरा था। इस जिले के किसानों के खातां में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने गतवर्ष समर्थन मूल्य पर गेहूँ खरीदी की प्रोत्साहन राशि के रूप में 32 करोड़ 88 लाख रूपये की राशि जमा की। तेज गर्मी में भी इन किसानों के चेहरे पर खुशियों और ठण्डक से भरी मुस्कुराहट साफ नजर आ रही थी। जिले के किलोदा गांव के 50 वर्षीय कृषक सुरेश बेहलावद (मो.नं. 997728874) का तो कहना था कि हमने तो सपने में भी नहीं सौचा था कि गेहूं पिछले साल पूरी कीमत पर बेंचा था। इस साल भी उस गेहूं की राशि प्रोत्साहन राशि के रूप में मिल जाएगी। सुरेश बेहलावद ने गत वर्ष अपना 500 क्विंटल गेहूं समर्थन मूल्य पर बेंचा था। आज के कार्यक्रम में गत वर्ष की प्रोत्साहन राशि के रूप में एक लाख रूपये उसके खाते में आ गए है।
   बरोठा देवास से किसान महासम्मेलन में शामिल हुए कालूसिंह चौधरी ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने हमारे पसीने की पूरी कीमत दिलवा दी है। कालूसिंह ने गत वर्ष समर्थन मूल्य पर लगभग 70 क्विंटल गेहूं बेचा। उसके खाते में भी 14 हजार रूपये प्रोत्साहन राशि के रूप में आ गए हैं।
   अमीरगढ़ झाबुआ से आए हीरालाल कटारा, कालूसिंह गरवाल तथा गोविन्द सिंह इस महासम्मेलन में शामिल होकर अपने धन्य महसूस कर रहे थे। उनका कहना था कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने किसानों को इतना दे दिया है कि यह किसान की सोच और सपनो से भी ज्यादा है। मुख्यमंत्री किसान समृद्धि योजना से लाभांवित हुए किसानों में इख्त्यिरपुर शुजालपुर के रमेशचंद्र मेवाड़ा, गदईसा पिपलिया के केसरसिंह, लखनसिंह, घिराना शाजापुर के कुमेरसिंह गुर्जर, सेमलखेड़ी के मांगीलाल, भैरूलाल, पथरिया शाजापुर के उदयसिंह आदि कई सारे किसानो ंका कहना था कि यह हमारे लिए स्वर्णिम काल है जब फसल का उचित दाम मिल रहा है गए साल समर्थन मूल्य पर गेहूं की बेचकर अच्छी राशि मिली थी। उसकी प्रोत्साहन राशि भी मुख्यमंत्री ने इस साल दे दी। इसके अलावा किसानों का कहना था कि साहब हमारे लिए सरकार ने घर बना के दिए हैं, फसलों के उचित दाम मिल रहे हैं, यह समय बास्तव में हम किसानों के लिए स्वर्णिम काल है इसके लिए मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान धन्यवाद के पात्र हैं।
हमने तो कभी सोचा ही नहीं था, पिछले साल गेहूँ बेचकर पूरी कीमत पाई और आज फिर मिल गई (कहानी सच्ची है) "सफलता की कहानी" प्रोत्साहन राशि शाजापुर किसान महासम्मेलन से मुस्कान लेकर घर लौटे किसान Reviewed by MALWA ABHITAK MP on 4/16/2018 Rating: 5

Copyright © Malwa Abhi Tak
Devloped By Sai Web Solution

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.