Layout Style

Full Width Boxed

Background Patterns

Color Scheme

Top Ad unit 728 × 90

Trending

random

अधजली लाश के हत्याकांड का खुलासा,पत्नी ने पति की प्रेमिका नर्स को पहले समझाया,नही मानने पर कर दी हत्या

-पहले समझाया, फिर मारपीट हुई और फिर कर दी हत्या,
- पत्नी के कई बार समझाने के बाद भी मृतक नर्स नही छोड़ रही थी पति का पीछा
- मृतिका की पहचान छुपाने के लिए ड्रम में भरकर जलाया था नर्स को
- गत 1 फरवरी को जिले के ग्राम घुंसी के जंगल में मिली थी अधजली लाश
- मामले का जल्द खुलासा करने हेतु स्वर्णकार समाज ने शाजापुर, मोमन बडोदिया और आस्टा में दिया था आवेदन
- सीहोर जिले के आस्टा में ह्त्या कर शाजापुर जिले के घुंसी में जलाया था महिला का शव
- पुलिस ने सात दिन की मेहनत में आरोपी, हत्याकाण्ड में प्रयुक्त मारुती वेन , मोबाईल आदि किये जब्त

शाजापुर शहज़ाद खान- गत एक फरवरी को  ग्राम घुंसी में मिली युवति की अधजली लाश का मामला शाजापुर पुलिस ने आठ दिनों में सुलझा दिया। जिस युवति की मौत हुई थी वह आष्टा के सरकारी अस्पलात में एएनएम(नर्स) थी। जिसे आष्टा निवासी हनीफा ने अपने पति के साथ नर्स का प्रेम-प्रसंग होने के चलते मौत के घाट उतारा था। पुलिस ने हनीफा सहित उसके दो सहयोगियों को गिफ्तार किया है। बता दें कि अधजली लाश की पहचान आष्टा के अस्पताल की एएनएम (नर्स) वंदना सोनी होने के बाद से ही मामला तुल पकड़ता जा रहा था। वंदना की हत्या के मामले में सोनी समाज भी मैदान में आया और जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी कर फांसी की सजा की मांग की। हालांकि शाजापुर पुलिस ने ८ दिनों हत्या के आरोपियों को गिरफ्तार कर मामला स्पष्ट कर दिया। मृतिका को इसलिए मोत के घाट उतार दिया की उसके बार बार समझाने के बाद भी वो उसके पति का पीछा नही छोड़ रही थी, इसलिए उसने परेशान होकर पहले तो उसे समझाया लेकिन उसके नही मानने पर उसे अपने घर में मोत के घाट उतार दिया और प्लास्टिक की टंकी में शव को भरकर थाना बेरछा के जंगल लाकर जला दिया, मामले में पुलिस ने हत्याकांड में शामिल आरोपियों और प्रयुक्त साधनों को जब्त कर आरोपियों को न्यायालय में पेश कर दिया हे, मामले का खुलासा आज शाजापुर में सीसीटीवी पुलिस कंट्रोल रूम में एसपी शैलेन्द्र सिंह चौहान, एएसपी गोपाल धाकड़, एसडीओपी बेरछा सीताराम अवास्य, एसडीओपी शाजापुर पदम सिंह बघेल ने किया

----- पूरा मामला इस प्रकार हे की गत 1 फरवरी को बेरछा थाना क्षेत्र के ग्राम घटिया में एक महिला का जला हुआ शव मिला था, पुलिस ने घटनास्थल जले हुए सामान जप्त किए थे, और जाँच की तो उस स्थान से किसी चिकित्सालय की सामग्री (कांच की स्लाइड , राख में लेंस से देखे गए शब्द जिनमे श्रमिक चिकित्सक INVAS, सामने आई जिसमे पता लगा की उक्त सामग्री सीहोर जिले के  आष्टा   के सरकारी अस्पताल की हे, जब पुलिस ने जाँच की तो आष्टा से एक एएनएम् के गायब होने की जानकारी मिली, एएनएम के परिजन ने आष्टा थाने में उसकी गुमशुदगी भी दर्ज कराई थी, इस पर बेरछा पुलिस आष्टा तक पहुंची और पुलिस ने एएनएम की बहन सुनंदा व नीलम से गुमसुदगी की जानकारी ली उन्हें जले हुए शव के पास मिला सामान (धातु का थर्मस, चाबिया, कान की बलिया, दिखाया, सामान देखकर मृतक की बहन सुनंदा और नीलम ने मृतक की शिनाख्त अपनी बहन वंदना सोनी पिता स्व लालाराम सोनी निवासी मंडीदीप जिला रायसेन हाल मुकाम एएनएम् जिला चिकित्सालय आष्टा के रूप में की, शिनाख्त के बाद पुलिस ने धारा 302, 201  के तहत मामला दर्ज कर विवेचना शुरू कर दी


-ये था हत्याकांड का कारण  - अधजली लाश मिलने के बाद क्षेत्र में सनसनी फेल गई थी और शव की शिनाख्त होने के बाद स्वर्णकार समाज ने भी अलग अलग स्थानों पर ज्ञापन  देना शुरू कर दिए, थे  जिससे पुलिस पर मामले के जल्द खुलासे का दबाव बढने लगा, ऐसे में पुलिस गंभीरता से मामले की जांच में जुट गई थी, एफएसएल और सायबर टीम की मदद से पुलिस ने आष्टा में मृतक वंदन सोनी की जानकारी जुटाना शुरू की तो पता चला की मृतिका वंदना सोनी पूर्व में अन्नू शाह निवासी मारुपुरा शासकीय चिकित्सालय आष्टा के मकान में किराये से रहने और अन्नू शाह के पुत्र एव उसके परिवार से मृतिका के पारिवारिक संबंध होने की बात पता चली , ये भी पता चला की कुछ माह पूर्व अन्नू शाह के परिवार से मृतिका वंदना सोनी का झगडा हो गया और उसमे अन्नू शाह का मकान खाली कर दिया और वो अन्य स्थान पर मकान किराये से लेकर रहने लगी , इस जानकारी के आधार पर पुलिस ने जाँच पड़ताल शुरू की तो बात सामने आई की मृतिका वंदना सोनी और आष्टा के अंसार के बिच सम्बन्ध थे जिस पर अंसार की पत्नी हनीफा को आपत्ति थी और इसी बात को लेकर अंसार और पत्नी  के बिच आये दिन झगडे होते थे,  इसी कारण अंसार की पत्नी हनीफा द्वारा अपने किरायेदार और परिचित रामचरन उर्फ़ गुड्डू के साथ मिलकर वंदना सोनी की हत्या कर दी,


- पहले समझाया फिर हत्या - प्रेस वार्ता में एसपी श्री चौहान में बताया की अंसार की पत्नी आरोपी हनीफा अंसार और वंदना सोनी के संबंधो के लेकर काफी दिनों से परेशान थी , उसने दोनों समबन्ध खत्म करवाने के लिए अपने किरायेदार और हत्याकांड के आरोपी रामचरन उर्फ़ गुड्डू से तांत्रिक क्रियाये भी करवाई, लेकिन कोई फायदा नही हुआ , इसी के बाद आरोपी हनीफा 31 जनवरी 19 को पहले अस्पताल गई यह उसने मृतिका वंदना से बातचीत की फिर उसे घर लेकर आई और यहाँ पर उसे आरोपियों ने पहले समझाया की तू अंसार का पीछा छोड़ दे, लेकिन वो नही मानी , इसके बाद मृतिका और आरोपियों का झगडा हुआ और उसके बाद हत्याकांड हो गया

 - ह्त्या के बाद प्लास्टिक के ड्रम में भरा शव - आरोपी वंदना सोनी की हत्या के बाद उसका शव एक प्लास्टिक के ड्रम में भरकर किराये की मारुती वेन से ग्राम घुंसी थाना बेरछा जो आरोपी गुड्डू का ससुराल हे में ले आये और यहाँ पर सुने जंगल में गाडी रोककर ड्रम खेत के पास उतार लिया और अँधेरा होते ही उसमे पेट्रोल डालकर आग लगा दी

- भोपाल भाग था एक आरोपी -  हत्याकांड में सम्मिलित आरोपी रामचरण उर्फ़ गुड्डू भोपाल अपने बचपन के दोस्त के यहा जाकर छुप गया , उसने अपने दोस्त को पूरी जानकारी बताई तो उसके दोस्त ने उसे छुपने के लिए मकान में जगह दे दी,सुचना मिलने पर पुलिस ने सायबर सेल की मदद से चार दिन में उसे भोपाल से दबोच लिया, साथ ही पुलिस ने अपराधी को सवरक्षण देने के आरोप में आरोपी के दोस्त को भी मामले में आरोपी बनाया हे

- अस्पताल के सीसीटीवी से सामने आई आरोपी हनीफा - अंसार की पत्नी  हनीफा से पुलिस ने पूछताछ कितो पहले तो उसने मना कर दिया की मरा वंदना से कोई संपर्क नही हे, लेकिन दूसरी बार जब पुलिस ने अस्पताल के सीसीटीवी फुटेज देखे जिसमे अस्पताल से हनीफा और वंदना साथ जाती दिखाई दी , तो पुलिस ने फिर हनीफा से पूछताछ  की तो उसने सच काबुल लिया

-  मामले में पुलिस ने हनीफा पति अंसार, रामचरन उर्फ़ गुड्डू, देवेन्द्र पिता लक्ष्मण के विरुद्ध मामला दर्ज कर लिया और उन्हें आज न्यायालय में पेश कर दिया
वीओ - पुलिस ने आरोपियों से मृतिका का मोबाइल , टेबलेट, घटना में प्रयुक्त मारुती वेन जब्त कर लि

--/अधजले शव की वंदना सोनी के रूप में शिनाख्त होने के बाद से स्वर्णकार समाज में आक्रोश पंप रहा था , मामले के जल्द खुलासे और आरोपियों को फंसी की सजा दिलवाने की मांग को लेकर ज्ञापन दिए गये थे, समाज के रास्ट्रीय अध्यक्ष ने तो चक्काजाम करने तक की बात कही  थी

मामले के खुलासे में एफएसएल अधिकारी आरसी भाटी, शासकी फोटोग्राफर प्रधान आरक्षक हीरालाल, साइबर सेल टीम, थाना प्रभारी बेरछा दीपिका शिंदे, उपनिरीक्षक राम प्रकाश यादव, सहायक उपनिरीक्षक उधम सिंह रघुवंशी, सहायक उपनिरीक्षक सुरेंद्रनगर, प्रधान आरक्षक ओम प्रकाश आर्य, प्रधान आरक्षक बाबूलाल मुकाती, आरक्षक दीपक रामटेके, आरक्षक नयन, आरक्षक विक्रम, आरक्षक संदीप,  आरक्षक रोहित, आरक्षक अनिरुद्ध,आरक्षक अशोक मालवीय, महिला आरक्षक मंजू ठाकुर, आरक्षक चालक राहुल बागड़िया, सैनिक जमुना प्रसाद पटेल, सैनिक रामप्रसाद, सैनिक साबिर,सैनिक राजाराम की महत्वपूर्ण भूमिका रही

शाजापुर से शहज़ाद खान की रिपोर्ट
अधजली लाश के हत्याकांड का खुलासा,पत्नी ने पति की प्रेमिका नर्स को पहले समझाया,नही मानने पर कर दी हत्या Reviewed by malwaabhitak on 2/09/2019 Rating: 5

Copyright © Malwa Abhi Tak
Devloped By Sai Web Solution

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.