Layout Style

Full Width Boxed

Background Patterns

Color Scheme

Top Ad unit 728 × 90

Trending

random

शाजापुर, उज्जैन जिले की प्रमुख ख़बरे एक साथ

अदालतों में लंबित प्रकरणों की जानकारी दें
शाजापुर 04 फरवरी 2019/ शासकीय विभागों के अदालतों में चल रहे लंबित प्रकरणों की जानकारी निर्धारित प्रारूप में दें। उक्त निर्देश अपर कलेक्टर श्री नवीत धुर्वे ने आज विभागीय अधिकारियों की समन्वय बैठक में दिये। इस अवसर पर समय-सीमा वाले पत्रों की समीक्षा भी की गई।
अपर कलेक्टर श्री धुर्वे ने बताया कि अदालतों में चल रहे प्रकरणों को सीआईएमएस पोर्टल पर दर्ज किये जाने हैं। अतः सभी विभागीय अधिकारी निर्धारित प्रारूप में प्रकरणों की जानकारी दें। साथ ही उन्होंने मुख्यमंत्री हेल्पलाईन, जनसुनवाई तथा पीजीआर से प्राप्त शिकायतों के समय पर निराकरण करने के निर्देश दिये। इस अवसर पर अनुविभागीय अधिकारी श्री यू.एस. मरावी, डिप्टी कलेक्टर श्रीमती कलावती ब्यारे व सुश्री प्रियंका वर्मा, जिला पंचायत प्रभारी सीईओ श्री एच.एल.वर्मा सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे। 
-------


जय किसान फसल ऋण माफी के आवेदन हेतु अंतिम तिथि 05 फरवरी
शाजापुर 04 फरवरी 2019/ जय किसान फसल ऋण माफी योजनांतर्गत आवेदन प्राप्त करने की अंतिम तारीख 05 फरवरी 2019 है।
कलेक्टर श्री श्रीकांत बनोठ ने जिले के किसानों से अपील की है कि जिन किसान भाईयों के द्वारा ‘‘जय किसान फसल ऋण माफी योजना‘‘ के अंतर्गत बैंक द्वारा उपलब्ध सूची में नाम अनुसार आवेदन नहीं किया है, वे किसान भाई तत्काल संबंधित ग्राम पंचायत में जाकर अपना आवेदन भरकर जमा करायें। जिन किसान भाईयों का नाम बैंक सूची में नहीं है या किसी प्रकार की आपत्ति या संशोधन होने पर गुलाबी रंग के आवेदन अवश्य भरें। आवेदन के साथ पासबुक की फोटोकापी एवं आधार कार्ड की फोटोकापी अवश्य लगायें। जय किसान फसल ऋण माफी योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए निर्धारित प्रारूप में आवश्यक दस्तावेजों के साथ आवेदन करना अनिवार्य है। 05 फरवरी 2019 के पश्चात आवेदन स्वीकार नहीं किए जायेंगे। 
किसान भाईयों को आवेदन भरने से संबंधित किसी प्रकार की समस्या व शिकायत होने पर जिला कन्ट्रोल रूम पर प्रातः 10.30 बजे से सायं 6.30 बजे तक समस्या के निराकरण हेतु अवश्य सम्पर्क करें। जिला कन्ट्रोल रूम का सम्पर्क नम्बर 07364-228936 है।
---------------

सोमवती अमावस्या पर हजारों लोगों ने शिप्रा में स्नान किया
जिला प्रशासन द्वारा की गई व्यवस्थाओं से प्रसन्न नजर आए श्रद्धालु
शाजापुर 04 फरवरी 2019/ सोमवती अमावस्या के अवसर पर शिप्रा तट पर स्थित सोमतीर्थ कुंड में स्नान का अपना अलग महत्व है। इसी तरह ऐतिहासिक रामघाट पर भी स्नान कर मां शिप्रा का आचमन करना एक पुण्य का कार्य माना जाता है।
उज्जैन संभाग के ग्रामीण अंचलों से आकर हजारों स्त्री, पुरुष एवं बच्चे आज 4 फरवरी को शिप्रा तट पर एकत्रित हुए और उन्होंने सोमतीर्थ कुंड पर एवम रामघाट पर पवित्र स्नान किया। जिला प्रशासन द्वारा शिप्रा नदी में नर्मदा का पानी लाकर नदी के पानी को स्वच्छ एवं निर्मल बना दिया गया। इससे न केवल ग्रामीण बल्कि शहर से आने वाले श्रद्धालु अत्यंत प्रसन्न नजर आए। उन्होंने माना कि सोमवती अमावस्या पर इस तरह का काम पहली बार हुआ है। इससे पहले सोम तीर्थ के आसपास गंदगी रहती थी, लोग उस  पानी  से नहाना तो दूर छूने से भी डरते थे। इस बार राज्य सरकार के निर्देश पर प्रशासन द्वारा व्यापक व्यवस्थाएं करके देवास बैराज से नर्मदा का पानी छोड़ा गया एवं रास्ते में पेट्रोलिंग कर पानी की चोरी रोकते हुए समय सीमा में त्रिवेणी घाट पर नर्मदा का जल लाकर मिला दिया गया। इससे ना केवल त्रिवेणी बल्कि भूखीमाता घाट, रामघाट, गऊघाट दत्त अखाड़ा घाट पर पानी स्वच्छ एवं निर्मल हो गया। श्रद्धालुओं की स्नान करने  की ललक स्वच्छ एवं पवित्र पानी को देख कर और बढ़ गई।
आज सोमवार को सुबह प्रातः 6ः00 बजे से ही  शिप्रा तट पर लोगों का तांता लग गया था। ठंड के बावजूद बच्चे, बूढ़े, जवान सभी अत्यंत ही मन से शिप्रा में डुबकी लगाते देखे गए। प्रशाशन द्वारा पर्याप्त सुरक्षा की व्यवस्था की गई थी। इसी के साथ चेंजिंग रूम, साफ सफाई, अस्थाई रूप से शौचालय, स्वास्थ्य कैम्प आदि लगाकर आम श्रद्धालुओं की सेवा की गई।
व्यवस्थाओं से गदगद हुए श्रद्धालु
उज्जैन जिला प्रशासन द्वारा सोमवती अमावस्या पर सुगम एवं स्वच्छ जल में स्नान हेतु की गई व्यवस्थाओं से सोमवती अमावस्या नहान के लिये उज्जैन आये श्रद्धालु अत्यधिक प्रसन्न नजर आये। शिप्रा के स्वच्छ जल में डुबकी लगाकर मानो उनके मन की मुराद पूरी हो गई। ग्राम रूदाहेड़ा से आये मोहन सोमतीर्थ से नहाकर परिवार सहित निकले और प्रसन्नचित मुद्रा में उन्होंने बताया “ऐसी व्यवस्था किसी भी सोमवती पर नहीं की गई है। घाट के आसपास की सफाई, स्वच्छ जल के फव्वारे और आने-जाने की सुगम व्यवस्था उन्हें सिंहस्थ की याद दिला गई।” वे कहते हैं “हर स्नानपर्व पर ऐसी व्यवस्थाएं होनी चाहिये।” ग्राम खोकरा कलां जिला शाजापुर की बीरमबाई अपने पति और दो बच्चों के साथ स्नान करने सोमतीर्थ पर पहुंची तो उनकी खुशी का ठीकाना नहीं रहा। वे कहती हैं कि “इसके पहले आसपास इतनी गन्दगी रहती थी कि उन्हें मन मसोसकर स्नान करना पड़ता था, किन्तु आज उन्होंने मन से स्नान किया और वे प्रशासन की व्यवस्था से गदगद नजर आईं।” बापू नगर के निवासी भगवान सिंह कहते हैं कि “ऐसी व्यवस्था उन्होंने कई साल बाद देखी है।” ग्राम सुल्तानपुरा के रामसिंह के भी इसी तरह के विचार थे। वे कहते हैं “प्रशासन चाहे तो सबकुछ कर सकता है। कहां शिप्रा मैया में काई लगा हरा पानी देखने को मिलता था, वहीं अब स्वच्छ और निर्मल जल स्नान के लिये मिल रहा है। श्रद्धालु ऐसी व्यवस्थाओं से अत्यधिक प्रसन्न नजर आ रहे थे।”
------------


अखिल भारतीय विद्युत क्रीड़ा महिला खेल प्रतियोगिता के लिये टीम घोषित
      शाजापुर 04 फरवरी 2019/ अखिल भारतीय विद्युत क्रीड़ा नियंत्रण मण्डल महिला खेल प्रतियोगिता के लिये एम.पी. पॉवर मैनेजमेंट ने 21 सदस्यीय टीम घोषित कर दी है। प्रतियोगिता 7 से 10 फरवरी तक इरोड (तमिलनाडु) में होगी। टीम शतरंज, कैरम, बेडमिंटन, टेबल-टेनिस और टेनीकॉइट स्पर्धा में भाग लेगी।
----------



आर्थिक मामलों के लिये मंत्री-परिषद समिति गठित
       शाजापुर 04 फरवरी 2019/राज्य शासन द्वारा आर्थिक मामलों के लिये मंत्री-परिषद समिति का गठन किया गया है। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ समिति के अध्यक्ष होंगे। समिति के सदस्य सचिव, मुख्य सचिव श्री एस.आर. मोहंती होंगे।
समिति में मंत्री श्री गोविंद सिंह राजपूत, श्री प्रियव्रत सिंह, श्री जयवर्द्धन सिंह, श्री पी.सी. शर्मा, श्री सचिन सुभाष यादव और श्री तरुण भनोत सदस्य होंगे।
-----------


खाद्य मंत्री श्री तोमर द्वारा दाल वितरण योजना का शुभारंभ
राशन दुकानों से 1.17 करोड़ पात्र परिवारों को रियायती दर पर मिलेगी दाल
        शाजापुर 04 फरवरी 2019/ खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री प्रद्युमन सिंह तोमर ने कहा है राज्य सरकार ने शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में निवासरत गरीब परिवारों को प्रोटीनयुक्त दाल प्रदाय के वचन-पत्र में किये गये वादे को आज पूरा कर दिया। श्री तोमर ने आज ग्वालियर में म.प्र. खाद्य सुरक्षा दाल वितरण योजना का प्रदेशव्यापी शुभारंभ करते हुए यह जानकारी दी। उन्होंन बताया कि 24 हजार 170 राशन दुकानों के माध्यम से एक करोड़ 17 लाख पात्र परिवारों को योजनान्तर्गत प्रति माह 4 किलोग्राम के मान से दाल प्रदाय की जाएगी।
         मंत्री श्री तोमर ने कहा कि म.प्र. खाद्य सुरक्षा दाल वितरण योजनान्तर्गत शासकीय उचित मूल्य की राशन दुकानों से एक किलो प्रति व्यक्ति और 4 किलो प्रति परिवार के हिसाब से दाल प्रदाय की जाएगी। उन्होंने कहा कि चने की दाल 27 रुपए प्रति किलो और मसूर की दाल 24 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से मिलेगी। खाद्य मंत्री ने बताया कि प्रदेश की 75 प्रतिशत आबादी को सार्वजनिक वितरण प्रणाली के माध्यम से रियायती दर पर राशन मुहैया कराया जा रहा है। वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार शहरी क्षेत्र की 62.61 प्रतिशत (एक करोड़ 25 लाख 59 हजार 357) जनसंख्या तथा ग्रामीण क्षेत्र में 80.10 प्रतिशत (4 करोड़ 20 लाख 82 हजार 857) जनसंख्या को इस योजना से जोड़ा गया है। इस प्रकार प्रदेश के कुल 75.26 प्रतिशत (5 करोड़ 46 लाख 42 हजार 214) लोग इससे लाभांवित होंगे।

शाजापुर, उज्जैन जिले की प्रमुख ख़बरे एक साथ Reviewed by Shahzad Khan patrkar shajapur on 2/04/2019 Rating: 5

Copyright © Malwa Abhi Tak
Devloped By Sai Web Solution

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.