रोजगार मेला रोजगार प्रदान करने में मील का पत्थर साबित होगा- राज्यमंत्री श्री परमार

0 77

शुजालपुर में वृहद रोजगार मेले का आयोजन

शाजापुर, 24 दिसम्बर 2020/ शुजालपुर में आयोजित हुआ रोजगार मेला रोजगार प्रदान करने में मील का पत्थर साबित होगा। यह बात प्रदेश के स्कूल शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) एवं सामान्य प्रशासन राज्यमंत्री श्री इंदरसिंह परमार ने आज जेएनएस महाविद्यालय शुजालपुर के प्रांगण में आयोजित हुए वृहद रोजगार मेले को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित करते हुए कही। इस अवसर पर कलेक्टर श्री दिनेश जैन, महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. कुसुम जाजु भी उपस्थित थी।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित करते हुए राज्यमंत्री श्री परमार ने कहा कि राज्य सरकार की प्राथमिकता लोगों को रोजगार प्रदान करने की है। राज्य सरकार ने रोजगार मेलों के माध्यम से इस वर्ष अधिकतम् लोगों को रोजगार प्रदान करने का लक्ष्य रखा है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि शुजालपुर में आयोजित हुए इस रोजगार मेले से अधिक से अधिक लोगों को रोजगार मिलेगा। उन्होंने रोजगार मेले में आए सभी प्रतिभागियों को शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर राज्यमंत्री श्री परमार ने कहा कि कोविड19 के कारण रोजगार, शिक्षा सहित अन्य आर्थिक गतिविधियां प्रभावित हुई थी और देश में पलायन भी हुआ था। इससे सम्भलने के लिए पीएम केयर फंड से सहयोग प्राप्त हुआ और जनता ने भी विपदा के समय सहयोग दिया। लॉकडाउन के कारण आर्थिक स्थिति पर असर हुआ है। इसे प्रधानमंत्री ने विपदा को अवसर में बदलने का काम किया है। गरीब और जरूरतमंदों के लिए सरकार ने हाथ खोलकर मदद की है। जिन छोटे-मोटे व्यवसायियों के व्यवसाय बंद होने से रोजगार खत्म हो गये थे, उन्हें चालू करने के लिए केन्द्र की सरकार ने “आत्मनिर्भर भारत” के तहत स्ट्रीट वेंडर्स को 10-10 हजार रूपये का ब्याज मुक्त ऋण उपलब्ध कराया, ताकि ये व्यवसायी अपने व्यवसाय को पुन: खड़ा कर सके। प्रदेश में 8 लाख स्ट्रीट वेंडर्स को चिंहित किया गया, जिनमें से अब तक एक लाख लोगों को लाभांवित किया जा चुका है। कोरोना काल में ही आर्थिक गतिविधियां शुरू करने के प्रयास प्रारंभ कर दिये गये हैं। जिसके तहत व्यवसायिक प्रतिष्ठानों आदि को खोला गया है। किन्तु बच्चों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए शिक्षा के क्षेत्र को अभी पूरी तरह से नहीं खोला गया है। उन्होंने कहा कि कक्षा 8वी तक विद्यालय अभी नहीं खोले जायेंगे। शासन की पहली प्राथमिकता जीवन बचाना है। कक्षा 9वी से 12वी तक के विद्यालयों को आंशिक रूप से खोलने की अनुमति दी गई है। साथ ही उन्होंने कहा कि किसी भी कक्षा में जनरल प्रमोशन नहीं दिया जायेगा। सभी की परीक्षाएं ली जायेगी। परीक्षा के लिए यदि पेटर्न बदलने की आवश्यकता पड़े तो बदलेंगे। केन्द्र की बोर्ड की परीक्षाओं के साथ ही राज्य की भी परीक्षाएं करवाई जायेगी। नई शिक्षा नीति के संबंध में बताते हुए उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति में सभी को अपनी भाषा में शिक्षा प्रदान करने का प्रयास किया गया है। नई शिक्षा नीति में 22 भाषाओं को शामिल किया गया है। उन्होंने कहा कि विदेशी भाषाओं से कोई तकलीफ नहीं है, किन्तु देश के विद्यार्थियों को अपनी भाषा में शिक्षा देना जरूरी है। उन्होंने कहा कि संस्कृत भाषा को बढ़ावा देने के लिए सभी बस्तियों एवं गांवों को संस्कृत समझने वाला बनायेंगे। संस्कृत में रोजगार मिले इसके भी प्रयास किये जायेंगे। हर जिले में एक ऐसा स्कूल बनाएंगे जिसमें शिक्षण एवं विद्यार्थियो के लिए संपूर्ण सुविधाएं उपलब्ध हो। शाजापुर में संपूर्ण सुविधायुक्त विद्यालय गुलाना में तैयार किया जा रहा है। इसके लिए 25 करोड़ रूपये की राशि भी मंजूर कर दी गई है। नई शिक्षा नीति से प्रदेश ही नहीं समूचे देश में प्रगति दिखने लगेगी। उन्होंने बताया कि 5 एवं 6 मार्च को भोपाल में देशभर के शिक्षाविद् इकट्ठे होकर मंथन करेंगे। शिक्षा नीति के क्रियान्वयन के लिए‍ शिक्षकों को भी प्रशिक्षित किया जायेगा। हमारा देश विषमताओं से भरा है, इस कारण अबतक स्तरीय शिक्षा पाने में दुनिया में हम पीछे थे, इसलिए दुनिया के समकक्ष खड़ा होने के लिए नई शिक्षा नीति तैयार की गई है। उन्होंने कहा कि कक्षा 6टी से व्यवसायी शिक्षा पाठ्यक्रम शुरू करेंगे। इसके साथ बच्चों को उनकी रूची के अनुसार शिक्षा एवं व्यवसायिक प्रशिक्षण दिये जायेंगे। प्रदेश में उद्योगों को नए स्वरूप में खड़ा करने का कार्य भी शुरू किया जा रहा है। प्रदेश के विकास के लिए 3 साल का रोडमेप तैयार किया जाकर क्रियान्वयन शुरू हो गया है।

इस अवसर पर कलेक्टर श्री जैन ने रोजगार मेले में आए युवाओं को संबोधित करते हुए कहा कि युवा नौकरी प्राप्त करने का लक्ष्य नहीं रखें, बल्कि स्वयं का व्यवसाय या उद्यम शुरू कर अन्य लोगों को रोजगार प्रदान करें। युवाओं में स्किल डेवलपमेंट के लिए प्रधानमंत्री कौशल विकास केन्द्र, आईटीआई, पॉलिटेक्निक आदि के माध्यम से प्रशिक्षण दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि राज्यमंत्री श्री परमार के मार्गदर्शन में रोजगार मेलों का आयोजन किया जा रहा है। जिला मुख्यालय पर भी रोजगार मेला आयोजित किया जायेगा। इस अवसर पर स्वागत उद्बोधन देते हुए महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. जाजु ने संबोधित करते हुए कहा कि उच्च शिक्षा विभाग द्वारा भी महाविद्यालयीन विद्यार्थियों को रोजगार के लिए स्वामी विवेकानंद कैरियर मार्गदर्शन प्रकोष्ठ के माध्यम से मार्गदर्शन दिया जाता है। उन्होंने आशा व्यक्त करते हुए कहा कि उच्च शिक्षा अर्जित करने के बाद युवाओं को रोजगार मेले के माध्यम से समुचित रोजगार प्राप्त होगा। इस अवसर पर 5 प्रत्याशियों को मेले में उपस्थित कंपनियों द्वारा अवसर प्रदान करने के लिए ऑफर लेटर दिये। ऑफर लेटर प्राप्त करने वालों में श्री लोकेन्द्र सिंह, श्री रोहित मेवाड़ा, श्री करण यादव, श्री संदीप अहिरवार तथा श्री प्रकाश पॉलीवाल को जॉब ऑफर लेटर दिये गये।

इसके पूर्व राज्यमंत्री श्री परमार ने रोजगार मेले का शुभारंभ फीता काटकर किया। इसके उपरांत उन्होंने सभी स्टालों पर जाकर की जा रही कार्यवाही का अवलोकन किया। साथ ही उन्होंने स्वामी विवेकानंद एवं महात्मागांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण भी किया। कार्यक्रम की शुरूआत अतिथियों ने मॉ. सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलित कर किया। कार्यक्रम के समापन पर जिला रोजगार अधिकरी श्री जितेन्द्र निगवाल ने उपस्थित लोगों के प्रति आभार व्यक्त किया।

इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ श्रीमती मिशा सिंह, तहसीलदार श्री राकेश खजूरिया, सीईओ जनपद श्री नितिन भट्ट, श्रम पदाधिकारी श्री रामगोपाल रजक, उद्योग महाप्रबंधक श्री अरूण राणे, एनआरएलएम जिला प्रबंधक सुश्री प्रतिभा जैन, महिला एवं बाल विकास सहायक संचालक श्री सुभाष जैन, जिला शिक्षा अधिकारी श्री यूयू भिड़े, डीपीसी श्री राजेन्द्र शिप्रे, आईटीआई प्राचार्य श्री ओपी सोलंकी सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद थे।

सुशासन की शपथ

पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा स्थापित सुशासन के उच्चतम मापदण्डों के महत्व को प्रतिपादित करते हुए उनके जन्म दिवस 25 दिसंबर के एक दिन पूर्व 24 दिसंबर को सुशासन दिवस के रूप में मनाया जाता है। शुजालपुर में रोजगार मेले में राज्यमंत्री श्री इंदरसिंह परमार ने उपस्थित सभी शासकीय सेवकों को सुशासन के उच्चतम मापदण्डों को स्थापित करने में संकल्पित रहने की शपथ दिलायी। सभी शासकीय सेवकों ने दाहिना हाथ आगे करके शपथ ली कि वे प्रदेश में शासन को अधिक पारदर्शी, सहभागी, जनकल्याण केन्द्रित, जवाबदेह बनाने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे तथा प्रदेश के नागरिकों के जीवन स्तर में सुधार लाने के लक्ष्य को पाने के लिए सदैव तत्पर रहेंगे।

मालवा अभीतक की ताजा खबर सीधे पाने के लिए👇
🗒 हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें-👉https://www.youtube.com/channel/UCZF8JMVuSpQVJwceqhyQB4A
🗒हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़े👉https://chat.whatsapp.com/D9LFwmzvyXrBKvyY5bZjg5
🗒 फेसबुक पेज को लाइक करे👉https://bit.ly/3fDs7A0

Leave A Reply

Your email address will not be published.

कोरोना वैक्सीन सुरक्षित है, महाभियान को सफल बनाएं : मुख्यमंत्री श्री चौहान     |     कलेक्टर श्री जैन ने ग्राम पिपलोदा इस्माइल पहुंचकर ग्रामीणों की समस्याएं सुनी     |     पुलिस मुख्यालय/मध्यप्रदेश शासन के निर्देशानुसार महिलाओं की सुरक्षा के लिए अभियान शुरू     |     शाजापुर -शपथ विधि कार्यक्रम संपन्न     |     VIDEO-अब तक आपने जमीन पर सूर्यनमस्कार देखा अब देखिए शाजापुर मलखम्ब खिलाड़ियों का अनोखा सूर्यनमस्कार     |     शेयर बाजार पर निर्भर हो गया कर्मचारियांे का भविष्य – पुरानी पेंषन बहाली के लिए अध्यापक संविदा षिक्षक महासंघ ने कैबिनेट मंत्री को सौंपा ज्ञापन     |     बर्ड फ्लू की हुई पुष्टि, विभाग अलर्ट, कंट्रोल रूम बनाया, सभी जगह रखी जा रही निगरानी,मक्सी,शाजापुर शुजालपुर सहित अनेक स्थानों पर हुई थी पक्षियों की मौत     |     उज्जैन दक्षिण 1967-72 एवं घटिया विधानसभा 1977-80 में विधायक रहे , श्री गंगाराम परमार का अस्वस्थ के चलते आज निधन     |     माफिया, गुंडो, राशन माफिया और सूदखोरों के लिए- शाजापुर कलेक्टर ने बनाया प्लान टीम के साथ बैठक ली     |     शाजापुर में पोल्ट्री फार्मों का निरीक्षण     |    

error: Content is protected !!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9893195865